Tuesday , September 18 2018

आधार कार्ड: 1000 ग्रामीण जनता की जन्मतिथि ” समान ”

इलाहाबाद: इलाहाबाद से करीब मोसा कंजासह के हजारों लोगों को यह देखकर उस समय हैरानी हुई जब उन्होंने अपना नया आधार कार्ड हासिल किया तो उसमें से 1000 ग्रामीणों की समान जन्मतिथि दर्ज थी। सभी लोग एक जनवरी को ही पैदा होना बताया गया था। इसलिए इन लोगों को एक ही स्थान पर अपना समान जयंती जन्मदिन मनाएंगे हालांकि गलती का एहसास तब हुआ जब पता चला कि आधार कार्ड बनाने के दौरान तकनीकी खराबी की वजह से स्थिति बदल गई।

इलाहाबाद से केवल 50 किलोमीटर दूर गांव कंजासह हर पांचवां व्यक्ति यह देख कर हैरान हुआ कि उसकी जन्मतिथि एक जनवरी लिखी गई है जो सरकारी जन्मतिथि है। आधार कार्ड में ऐसी त्रुटियों की शिकायत जब बाढ़ उमड़ पड़ा तो अधिकारी भी परेशान हो गए। स्थानीय लोगों ने
शिकायत की कि उनके आधार कार्ड उनके मूल जन्मतिथि दर्ज नहीं है।

अधिकारियों ने इस गलती की जांच का आदेश दिया है। गलती जल्दी दूर करने की हिदायत भी दी गई है। लगभग 1000 ग्रामीण जनता ने आधार कार्ड में अपनी जन्मतिथि गलत दर्ज करने की शिकायत की है। अवरुद्ध विकास अधिकारी नीरज दुबे ने बताया कि यह माना जा रहा है कि एक ऐसा सॉफ़्टवेयर विकसित किया गया है जो मूल जन्मतिथि से परिचित नहीं होते, उन्हें स्वतः पहली जनवरी की तारीख दी जाती है।

TOPPOPULARRECENT