Wednesday , January 24 2018

आप केख़िलाफ़ 65 मुक़द्दमात हैं, आठ में मुजरिम साबित होचुके हैं, फिर ज़मानत कैसी?:सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने जेल में कैद आर जे डी के एक लीडर मुहम्मद शहाबुद्दीन को मुजरिमाना रेकॉर्ड याद दिला दिया जब उन्होंने अग़वा के एक 9 साल पुराने मुक़द्दमा में ज़मानत पर रिहाई केलिए दर्ख़ास्त पेश की थी।

सुप्रीम कोर्ट ने जेल में कैद आर जे डी के एक लीडर मुहम्मद शहाबुद्दीन को मुजरिमाना रेकॉर्ड याद दिला दिया जब उन्होंने अग़वा के एक 9 साल पुराने मुक़द्दमा में ज़मानत पर रिहाई केलिए दर्ख़ास्त पेश की थी।

जस्टिस उच्च एल दत्तू और जस्टिस एमवाय इक़बाल पर मुश्तमिल सुप्रीम कोर्ट की डिवीज़न बेंच ने मुहम्मद शहाबुद्दीन के वकील राजीव धवन की जानिब से दर्ख़ास्त ज़मानत पर बहस के शुरू के साथ ही इस तास्सुर का इज़हार किया कि आप (मुहम्मद शहाबुद्दीन) के ख़िलाफ़ कितने मुक़द्दमात हैं? ग़ालिबन 65 मुक़द्दमात हैं।

आठ में पहले ही मुजरिम क़रार दिए जा चुके हैं। ख़ाह आप कुछ भी कह लें लेकिन ये ज़मानत का मुक़द्दमा हरगिज़ नहीं होसकता। आर जे डी के मुतनाजे रुक्न पार्ल्यमेंट मुहम्मद शहाबुद्दीन ने अपने एक वकील शेब आलम के तवस्सुत से पटना हाईकोर्ट में एक दर्ख़ास्त दायर करते हुए अदालत में जारी मुक़द्दमा की समाअत पर हुक्म अलतवा जारी करने की अपील की हालाँकि इस मुक़द्दमा की समाअत मुकम्मल होचुकी है।

TOPPOPULARRECENT