Friday , December 15 2017

आबनाए हुर्मुज़ के क़रीब ईरानी मीज़ाईल तजुर्बे

तेहरान, 02 जनवरी (ए पी ) ईरान का कहना है कि इसने तरक़्क़ी याफ़ता बहरी ( समुद्री) जहाज़ शिकन मीज़ाईल्स आबनाए हुर्मुज़ ( Strait of Hormuz ) के क़रीब मुनाक़िदा बहरीया की जंगी मश्क़ों के आख़िरी दिन दागे़ हैं ।

तेहरान, 02 जनवरी (ए पी ) ईरान का कहना है कि इसने तरक़्क़ी याफ़ता बहरी ( समुद्री) जहाज़ शिकन मीज़ाईल्स आबनाए हुर्मुज़ ( Strait of Hormuz ) के क़रीब मुनाक़िदा बहरीया की जंगी मश्क़ों के आख़िरी दिन दागे़ हैं ।

आबनाए हुर्मुज़ दुनिया के लिए तेल की सरबराही की 20 फ़ीसद मिक़दार की गुज़रगाह है। सरकारी टेलीविज़न ने कहा कि ग़दर या कपीबल मीज़ाईल का दायरा अमल 200 किलो मीटर है । आज जिन हथियारों का इस्तेमाल किया गया इनमें ये मिज़ाईल भी शामिल था जो बहरी जंगी जहाज़ों को तबाह कर सकता है ।

आज की ख़बर के मुताबिक़ ईरानी बहरीया ने एक और बहरी जंगी जहाज़ शिकन मीज़ाईल नूर का तजुर्बा भी किया । बहरीया की पाँच रोज़ा फ़ौजी मश्क़ें ईरान की ताक़त के मुज़ाहिरे का ताज़ा तरीन इज़हार है, जो इसके मुतनाज़ा न्यूक्लीयर प्रोग्राम की बिना पर बढ़ते हुए दबाव के पेशे नज़र किया गया है।

मग़रिबी ममालिक को शुबा है कि इस प्रोग्राम का मक़सद न्यूक्लीयर हथियार तैयार करना है। ईरान ने इस इल्ज़ाम की बार बार तरदीद की है। ताहम धमकी दी है कि मग़रिबी ममालिक की ईरान पर तहदेदात के जवाब में आबनाए हुर्मुज़ बंद की जा सकती है लेकिन गुज़श्ता चंद दिनों से ईरान ने अपनी धमकीयों का इआदा नहीं किया है।

TOPPOPULARRECENT