Sunday , December 17 2017

आम हालात बतदरीज बहाल,पानी की सतह में कमी

कश्मीर में तक़रीबन 11 दिन के बाद आम हालात बतदरीज बहाल होरहे हैं। जहलुम नदी में पानी की सतह किसी क़दर कम हुई है और रिहायशी इलाक़ों में राहत कारी इक़दामात तेज़ कर दिए गए हैं। श्रीनगर शहर के कई इलाक़ों में ओ एन जी सी और फ़ायर सरविसेज़ के पंप्

कश्मीर में तक़रीबन 11 दिन के बाद आम हालात बतदरीज बहाल होरहे हैं। जहलुम नदी में पानी की सतह किसी क़दर कम हुई है और रिहायशी इलाक़ों में राहत कारी इक़दामात तेज़ कर दिए गए हैं। श्रीनगर शहर के कई इलाक़ों में ओ एन जी सी और फ़ायर सरविसेज़ के पंप्स के ज़रीया पानी की निकासी अमल में लाई जा रही है।

कई इलाक़े बिलख़ुसूस पुराना शहर हुनूज़ पानी में घिरा हुआ है ताहम मुतास्सिरा अफ़राद को राहत कारी अशीया फ़राहम की जा रही हैं जिन्हें पहले ही महफ़ूज़ मुक़ाम मुंतक़िल कर दिया गया है। मुतास्सिरा अवाम ने तबाही की रुवेदाद सुनाते हुए कहा कि अचानक उनके घरों में पानी दाख़िल होना शुरू होगया और देखते ही देखते कई इलाक़े ज़ेर-ए-आब आगए।

कई अफ़राद ने अपनी ज़िंदगी बचाने केलिए मुख़्तलिफ़ अशीया को सहारा बनाया। एक शख़्स ने कहा कि पानी का टैंक जो ख़ाली था, इस के ज़रिए वो महफ़ूज़ मुक़ाम मुंतक़िल हुए बाज़ लोगों ने थर्माकोल का सहारा लिया और बाज़ केलिए हल्की पानी में तैरने वाली अशीया उन के बचाओ का ज़रीया बन गई। घरों की छत पर पनाह लेने वाले अफ़राद को वोलेंटियर्स‌ ने घरेलू अशीया की मदद से उन्हें महफ़ूज़ मुक़ामात पर मुंतक़िल किया।

TOPPOPULARRECENT