आरएसएस के 11 कार्यकर्ताओं को हत्या के मामले में हुई दोहरी उम्रकैद

आरएसएस के 11 कार्यकर्ताओं को हत्या के मामले में हुई दोहरी उम्रकैद

सीपीएम के एक कार्यकर्ता की हत्या के मामले में त्रिवनंतपुराम के सेशन कोर्ट ने स्वयंसेवक संघ आरएसएस के 11 कार्यकर्ताओं को दो उम्रकैद की सज़ा सुनाई है। सेशन कोर्ट ने इसके अतिरिक्त एक संघ कार्यकर्ता को आजीवन कारावास और एक को सुबूत छुपाने का दोषी ठहराते हुए तीन साल की जेल की सज़ा का फरमान दिया है।

केरल में केथमुक्कु में पासपोर्ट कार्यालय के पास विष्णु जो की सीपीएम का कार्यकर्ता था उस पर कुछ लोगों ने तलवार से हमला करते हुए उसकी हत्या कर दी थी। विष्णु की हत्या के आरोप में पुलिस ने 16 आरएसएस कार्यकर्ताओं के खिलाफ केस दर्ज किया था। शुक्रवार को अदालत द्वारा इनमे से 13 कार्यकर्ताओं को दोषी ठहराया गया। वहीं एक कार्यकर्ता को सही सुबूत न मिलने के कारण बरी कर दिया गया था। इस केस के दो आरिपियों में से एक लापता है और दूसरे की मौत हो गयी है।

सीपीएम कार्यकर्ताओं और संघ कार्यकर्ताओं के बीच केरल के कन्नूर और त्रिवन्दपुराम ज़िलों के ग्रामीण क्षेत्रों में हिंसा होना लड़ाई झगड़े होना काफी सामान्य सी बात है। अगर आंकड़ो को देखा जाये तो यहां हिंसा और लड़ाई झगडों में दोनों संगठनों के अब तक 200 से ज़्यादा कार्यकर्ता मारे गये हैं। अभी हाल में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान भी इन गुटों में कई बार लड़ाई झग़डे हुए थे।

Top Stories