आरएसएस को हथियार रखने की इजाज़त मिले- बीजेपी के पूर्व कानून मंत्री

आरएसएस को हथियार रखने की इजाज़त मिले- बीजेपी के पूर्व कानून मंत्री
Click for full image

बंगलुरु: कर्नाटक के पूर्व कानून मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता एस सुरेश कुमार ने सोमवार को आरएसएस कार्यकर्ता रुद्रेश आर की हत्याै के विरोध में प्रदर्शन कर रहे लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आरएसएस कार्यकर्ताओं को अपने साथ हथियार रखने की अनुमति मिलनी चाहिए. हम पीडि़त नहीं हैं, हम योद्धा हैं. हमें पता है खुद की सुरक्षा कैसे की जाती है.

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

जनसत्ता के ख़बरों के अनुसार,सुरेश कुमार ने कहा, ”कुटप्पाै, प्रवीण पुजारी, राजू और रुद्रेश की हत्या.ओं से साफ होता है कि पुलिस उनकी सुरक्षा में नाकाम रही. हमने पुलिस कमिश्न”र से कहा है कि यदि वे हमारे कार्यकर्ताओं की रक्षा नहीं कर सकते तो हमें हथियार लाइसेंस मुहैया करा दें. हम पीडि़त नहीं हैं, हम योद्धा हैं. हमें पता है खुद की सुरक्षा कैसे की जाती है.

गौरतलब है कि रुद्रेश आर की दो मोटरसाइकिल सवार युवकों ने पिछले दिनों हत्याा कर दी थी. हालांकि भाजपा और आरएसएस के
कनार्टक के पूर्व कानून मंत्री ने कहा कि सरकार और पुलिस कई बार आरएसएस कार्यकर्ताओं की रक्षा करने में असफल रही है. संगठन को लगातार निशाना बनाया जा रहा है. उन्हों”ने आरोप लगाया कि दोषियों को बचाने के लिए पुलिस पर राजनीतिक दबाव डाला जा रहा है. भाजपा नेता शोभा करांदलजे ने इन हत्या‍ओं को षड़यंत्र का हिस्साो बताया.
आप को बता दें कि आरएसएस कार्यकर्ता की हत्या के बाद बेंगलुरु में तनाव फ़ैल गया, चार थाना क्षेत्रों में धारा 144 लागू कर दिया गया. वहीं आरएसएस ने सुरेश कुमार के बयान से खुद को किनारे कर लिया. उसकी ओर से कहा गया कि उसे पुलिस और न्या यपालिका में भरोसा है. रुद्रेश हत्याी मामले में न्यालय के लिए वह शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करते रहेंगे. भाजपा नेता आर अशोक और सांसद पीसी मोहन ने कहा कि सुरेश कुमार का बयान उनकी निजी राय है.

Top Stories