Tuesday , December 12 2017

आरा में दिनदहाड़े पांच करोड़ के सोने की लूट

इंतेहाई मशरुफ़ रास्ते में पकड़ी-रमना रोड वाकेय मणप्पुरम फाइनेंस कम्पनी के दफ्तर में मंगल को दिनदहाडे़ लुटेरों ने फिल्मी स्टाइल में तकरीबन पांच करोड़ रुपये कीमत का 17 किलो सोना लूट लिया। लूटेरे ढाई लाख रुपये नकद भी लेकर चलते बने। छ

इंतेहाई मशरुफ़ रास्ते में पकड़ी-रमना रोड वाकेय मणप्पुरम फाइनेंस कम्पनी के दफ्तर में मंगल को दिनदहाडे़ लुटेरों ने फिल्मी स्टाइल में तकरीबन पांच करोड़ रुपये कीमत का 17 किलो सोना लूट लिया। लूटेरे ढाई लाख रुपये नकद भी लेकर चलते बने। छह की तादाद में आये लुटेरे पूरी तरह से असलाह से लैस थे।

गाहक बन कर कम्पनी के दफ्तर में आए मुजरिमों ने गार्ड और बैंक मैनेजर समेत तीनों मुलाज़िम को सबसे पहले कब्जे में ले लिया। उनकी पिटाई करने के बाद तमाम को बाइतुल खुला में बंद कर मैनेजर से शेफ की चाबी छीन ली। इसके बाद मुजरिमों ने शेफ को खोल कर सोना व सोने के गहने के साथ नगदी लूट ली।

जाते-जाते लुटेरों ने सीसी टीवी कैमरे के हार्ड डिस्क भी निकाल ली। इस मामले में नवादा थाने में लूट की एफआईआर दर्ज कराई गई है। दिनदहाड़े हुई वाकिया की इत्तिला मिलते ही पुलिस मकहमे में हड़कंप मच गया। एसपी अख्तर हुसैन, एसडीपीओ विनोद कुमार रावत व नवादा इंस्पेक्टर कुमार धर्मेन्द्र सिंह समेत कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंची और छानबीन की। इसके अलावा मौके पर सीसी टीवी कैमरे के एक्सपर्ट भी दफ्तर पहुंचे और जांच पड़ताल की।

सीसी टीवी कैमरे के एक्सपर्ट बुलाए गए हैं। जोनल आईजी ए के अम्बेदकर ने वाकिया का जल्द भंडाफोड़ कर मुजरिमों को पकड़ने की हिदायत दिया है। उन्होंने कहा कि इस वाकिया में बैंक की किरदार की भी जांच होगी। उन्होंने बताया कि मुजरिमों का स्कैच बनवाया जाएगा।

जानकारी के मुताबिक सोना लेकर लोन देने वाली मणप्पुरम फाइनेंस कम्पनी की शाख नवादा थाना इलाक़े के जज कोठी मोड़ के नज़दिक एक मकान में पहली मंजिल पर वाकेय है। करीब सवा तीन बजे दो की तादाद में मुजरिम दफ्तर में पहुंचे और लोन के बारे में पूछताछ करने लगे। इसके बाद बारी-बारी से सभी मुजरिम दफ्तर में दाखिल कर गए। इस दौरान मुजरिमों ने पहले गार्ड को कब्जे में ले लिया। उसके बाद एसिस्टेंट शाख मैनेजर गौतम कुमार को पिस्तौल भिड़ा दी।

इस दरमियान मुजरिमों ने मैनेजर की जैकेट उतरवा दी और उसक बैग व मोबाइल भी छीन लिया। ब्रांच मैनेजर जबतक अलार्म बजाने की कोशिश करते, तबतक मुजरिमों ने उनको भी पकड़ लिया। करीब पंद्रह मिनट तक लूटपाट मचाने के बाद सभी मुजरिम आराम से चलते बने।

TOPPOPULARRECENT