Tuesday , July 17 2018

आर्थिक तंगी के परेशान पूरे परिवार ने खाया जहर, चार की हुई मौत एक की हालत खराब

जयपुर : जयपुर करधानी थाना के सर्वोदय नगर का यह मामला है सुसाइड नोट से पता चला की आर्थिक तंगी से यह परिवार परेशान था इसलिए पूरा का पूरा परिवार ने जहर खाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। इसमें परिवार के 4 सदस्यों की तो मौत हो गई जबकि एक अभी भी सवाई मानसिंह अस्पताल में जिदंगी और मौत से जंग लड़ रहा है। पुलिस के मुताबिक प्रोपट्री का व्यवसाय करने वाला डूंगरराम पिछले 15 साल से सर्वोदय नगर में अपनी पत्नी और तीन बच्चों के साथ निवास कर रहा था।  घटना का खुलासा बुधवार सुबह उस समय हुआ जब घर में कोई हलचल नजर नहीं आई तो पड़ोसी ने दरवाजा खटखटाया । इस पर पड़ोसी ने खिड़की खोलकर देखा तो परिवार के सभी सदस्य अलग-अलग पड़े हुए थे । सभी के मुंह से झाग निकल रहा था। इस पर पडौसियों के मदद से उसने सभी को सवाई मानसिंह अस्पताल मेें भर्ती कराया, जहां डूंगरराम, पत्नी सुमन, बेटी ख़ुशी और बेटा जितेंद्र की मौत हो गई जबकि दूसरे बेटे धमेंद्र की हालत गंभीर बनी हुई है।

पुलिस ने मामले की जांच पड़ताल की तो उन्हें घर से चार मोबाइल और एक सुसाइड़ नोट मिला है। साथ ही पुलिस को एलड्रिन और सेल्फाॅज के भी पाउच मिलें हैं। एक सुसाइड नोट भी पुलिस को मिला है जिसमें पता चला कि डूंगरराम का प्रोपट्री व्यवसाय का काम सही नही चल रहा था। इसके चलते वह आर्थिक तंगी से परेशान चल रहा था। आर्थिक तंगी के चलते डूंगरराम ने कई लोगों से लाखों रूपए का कर्ज भी ले रखा था। इसके चलते आए दिन लोग उसके घर पर रूपये मांगने आते थे। कर्जदारों से परेशान होकर डूंगरराम कुछ दिन के लिए घर से चला भी गया था। यही नहीं डूंगरराम ने कई लोगों को उधार भी दे रखा था। ऐसे में वो लोग डूंगरराम को उधार दी रकम नही लौटा रहे थे।

फिलहाल पुलिस मामला दर्ज कर अब जांच पड़ताल में जुट गई हैं कि आखिरकार डूंगरराम के परिवार ने क्यों आत्महत्या की। साथ ही पुलिस सवाई मानसिंह में चल रहे बेटे धमेंद्र के भी होष मेें आने का इंतजार कर रही है ताकि इस पूरे मामले से पर्दा उठ सके।

TOPPOPULARRECENT