आर्थिक मोर्चे पर एक और बुरी खबर, खुदरा महंगाई दर में इजाफा !

आर्थिक मोर्चे पर एक और बुरी खबर, खुदरा महंगाई दर में इजाफा !

आर्थिक मोर्चे पर सरकार के लिए एक और परेशान करने वाली खबर आई है. खुदरा महंगाई दर सितंबर में बढ़कर 3.99 फीसदी पर पहुंच गई. सोमवार को इस बारे में आधिकारिक आंकड़े जारी किए गए. इसकी प्रमुख वजह बीते माह में खाने-पीने की वस्तुओं की कीमतों का ऊंचा रहना है.

उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित खुदरा महंगाई दर अगस्त में 3.28 फीसदी रही थी. एक साल पहले सितंबर 2018 में यह 3.70 फीसदी रही थी.

सांख्यिकी और कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय के आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार सितंबर में खाने-पीने के क्षेत्र में महंगाई दर 5.11 फीसदी रही जो अगस्त में 2.99 फीसदी रही थी.

 

सितंबर में सब्जियों की महंगाई दर 15.40 फीसदी रही और इसकी वजह से खाने-पीने की वस्तुओं की महंगाई दर में काफी ज्यादा इजाफा हुआ है.

हालांकि मुख्य महंगाई दर (खुदरा और थोक को मिलाकर) दर अभी भी रिजर्व बैंक द्वारा तय किए गए दायरे में बनी हुई है.

Top Stories