आर एस एस ओहदेदार दादा भाई का इंतिक़ाल

आर एस एस ओहदेदार दादा भाई का इंतिक़ाल
सरकर्दा आर एस एस रहनुमा और संस्कृत के आलम पण्डित गिरी राज शास्त्री जिन्हें उर्फ़ आम में दादा भाई कहा जाता था। आज सुबह की अव्वलीन साअतों में चल बसे। वो 93 बरस के थे। इन की वसीयत के मुताबिक़ उनके जसद-ए-ख़ाकी को बतौर अतीया मेडीकल कालेज के ह

सरकर्दा आर एस एस रहनुमा और संस्कृत के आलम पण्डित गिरी राज शास्त्री जिन्हें उर्फ़ आम में दादा भाई कहा जाता था। आज सुबह की अव्वलीन साअतों में चल बसे। वो 93 बरस के थे। इन की वसीयत के मुताबिक़ उनके जसद-ए-ख़ाकी को बतौर अतीया मेडीकल कालेज के हवाले कर दिया जाएगा ताकि इल्म तिब्ब हासिल करने वाले तालिब-ए-इल्म इस्तेफ़ादा करें ।

अपनी तवील अवामी ज़िंदगी में वो आर एस एस के कई अहम ओहदों पर फ़ाइज़ रहे ।

Top Stories