Monday , December 18 2017

आर टी सी मुलाज़मीन हड़ताल के फैसले पर अटल

हैदराबाद 05 जुलाई: आर टी सी इंतेज़ामीया के साथ बातचीत की आज फिर नाकामी के बाद रियासती सतह पर 5 जुलाई की निस्फ़ शब से आर टी सी मुलाज़मीन की अपने देरीना हल तलब मसाइल की ताईद में गैर माइना मुद्दत की हड़ताल का आग़ाज़ होसकता है।

हैदराबाद 05 जुलाई: आर टी सी इंतेज़ामीया के साथ बातचीत की आज फिर नाकामी के बाद रियासती सतह पर 5 जुलाई की निस्फ़ शब से आर टी सी मुलाज़मीन की अपने देरीना हल तलब मसाइल की ताईद में गैर माइना मुद्दत की हड़ताल का आग़ाज़ होसकता है।

मुलाज़मीन के नुमाइंदों और इंतेज़ामीया के माबेन बातचीत आज भी नाकाम रही और कोई नतीजा ना निकलने के बाद ए पी एस आर टी सी एम्प्लाइज यूनीयन और तेलंगाना मज़दूर सिंह के क़ाइदीन ने कल निस्फ़ शब से मुलाज़मीन की हड़ताल के लिए इंतेज़ामीया को नोटिस हवाले की।

इन क़ाइदीन ने इंतेज़ामीया पर सख़्त गैर मौक़िफ़ इख़तियार करने का इल्ज़ाम लाग‌या और कहा कि इंतेज़ामीया मुलाज़मीन के देरीना मुतालिबात कॉन्ट्रैक्ट असास पर काम करने वाले ड्राईवरस और कंडक्टर्स की ख़िदमात को बाक़ायदा बनाने और तनख़्वाहों में इज़ाफे के मुतालिबा पर कोई मुसबित रुजहान का इज़हार नहीं किया है इसी लिए वो हड़ताल करने पर मजबूर हो रहे हैं।

आर टी सी इंतेज़ामीया और मुलाज़मीन के माबेन कल भी बातचीत हुई थी जो गैर मुत्माईन थी और कल के मीटिंग में कोई फैसला नहीं होसका था।

आज भी बातचीत का सिलसिला जारी रहा ताहम इंतेज़ामीया पर सख़्त गैर रवैया इख़तियार करने का इल्ज़ाम लाग‌ते हुए मुलाज़मीन तनज़ीमों के क़ाइदीन ने हड़ताल की नोटिस पेश करदी है।

ए पी एस आर टी सी एम्प्लाइज यूनीयन के जनरल सेक्रेटरी पद्माकर रेड्डी और तेलंगाना मज़दूर यूनीयन के जनरल सेक्रेटरी इश्वाधामा रेड्डी ने बताया कि इंतेज़ामीया ने हड़ताल ख़त्म करने के लिए जो मौक़िफ़ इख़तियार क्या हुआ है वो मुलाज़मीन के लिए काबिल‍ ए‍ कुबूल नहीं है।

इस में मुलाज़मीन के देरीना और असल मुतालिबात को तस्लीम करने का कोई इशारा तक नहीं दिया गया है। उन्होंने कहा के वज़ीर ट्रांसपोर्ट बी सत्य नाराय‌ना ने साबिक़ में जो वादे कीए थे उनका अब कोई पास-ओ-लिहाज़ नहीं रखा जा रहा है।

उन्होंने कहा कि इंतेज़ामीया के मौक़िफ़ को देखते हुए मुलाज़मीन के पास गैर माइना मुद्दत की हड़ताल शुरू करने के अलावा कोई और रास्ता नहीं रह गया है।

उन्होंने कहा कि हुकूमत ने साबिक़ में जो वादे कीए थे अब इंतेज़ामीया उन वादें को पुरा करने तैयार नहीं है। मुलाज़मीन के साथ इंतेज़ामीया का रवैया सख़्त गैर है इसी लिए वो आज निस्फ़ शब से हड़ताल करेंगे।

TOPPOPULARRECENT