Saturday , December 16 2017

आलमी मुज़म्मत के बावजूद शुमाली कोरिया अपने मोक़िफ़ पर क़ायम

इतवार को खला में राकेट भेजने और गुज़िश्ता माह जौहरी तजुर्बा करने पर आलमी मुज़म्मत के बावजूद शुमाली कोरिया का अपने मोक़िफ़ पर डटे रहना शुमाली कोरिया के रहनुमा किम जोंग उन की मुल्क में और मुल्क से बाहर कुछ लिहाज़ से उनकी पोज़ीशन में मज़बूती का बाइस बन रहा है।

शुमाली कोरिया के सरकारी मीडिया में नौजवान किम जोंग उन को एक मज़बूत रहनुमा के तौर पर पेश किया जाता है जो अमरीका और जुनूबी कोरिया की फ़ोर्सेस के ख़िलाफ़ मुल्क की ख़ुद मुख़तारी का दिफ़ा कर रहा है।

इतवार को राकेट दाग़ने के तजुर्बे को सरकारी ज़राए इबलाग़ ने मुल्क में टेक्नोलॉजी की एक बड़ी कामयाबी क़रार दिया जिससे अवाम का सर फ़ख़र से बुलंद हो गया है। अमरीका के जॉइंट स्पेस ऑपरेशंस सैंटर ने कहा कि शुमाली कोरिया ने राकेट के ज़रीये दो चीज़ें ख़लाई मदार में भेजी हैं मगर ये वाज़ेह नहीं कि वो सिगनल भेज रही हैं या नहीं।

TOPPOPULARRECENT