Tuesday , December 19 2017

आलेर एनकाउंटर के ख़िलाफ़ डी जे एस रियाली को पुलिस ने नाकाम बनादिया

आलेर फ़र्ज़ी एनकाउंटर के ख़िलाफ़ मुनाक़िदा दरसगाह जिहाद-ओ-शहादत की रियाली को पुलिस ने नाकाम बनाते हुए 13 कारकुनों बिशमोल मौलाना नसीरुद्दीन को गिरफ़्तार करलिया। नलगेंडा के इलाके आलेर में 7अप्रैल को विक़ार अहमद और इस के चार साथी सय्यद अ

आलेर फ़र्ज़ी एनकाउंटर के ख़िलाफ़ मुनाक़िदा दरसगाह जिहाद-ओ-शहादत की रियाली को पुलिस ने नाकाम बनाते हुए 13 कारकुनों बिशमोल मौलाना नसीरुद्दीन को गिरफ़्तार करलिया। नलगेंडा के इलाके आलेर में 7अप्रैल को विक़ार अहमद और इस के चार साथी सय्यद अमजद अली, हनीफ़, मुहम्मद ज़ाकिर और इज़हार ख़ान को वरंगल सेंट्रल जेल से हैदराबाद नामपली क्रीमिनल कोर्ट को मुंतक़ली के दौरान उन्हें फ़र्ज़ी एनकाउंटर में हलाक कर दिया गया था।

इस के ख़िलाफ़ दरसगाह जिहाद-ओ-शहादत ( डी जे एस ) ने मस्जिद हाजी कमाल से एक रियाली मुनाक़िद की थी जो डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर महमूद अली के घर वाक़्ये आज़मपूरा तक निकाली जा रही थी ताहम पुलिस ने इस मौके पर भारी फ़ोर्स मुतय्यन की थी। इंस्पेक्टर मीर चौक पुलिस स्टेशन वि यादगिरी रेड्डी ने बताया कि इस रियाली को निकालने के लिए इजाज़त हासिल नहीं की गई थी और पुलिस ने इस के ख़िलाफ़ कार्रवाई करते हुए 13कारकुनों बिशमोल सदर वहदत इस्लामी मौलाना मुहम्मद नसीरुद्दीन को गिरफ़्तार करते हुए उन्हें दबीरपुरा पुलिस स्टेशन मुंतक़िल किया और बादअज़ां शख़्सी मुचल्का पर उन्हें रिहा कर दिया गया।

TOPPOPULARRECENT