Saturday , December 16 2017

आले सऊद शीयों और सुन्नीयों में ख़ानाजंगी चाहते हैं

ईरान और इराक़ के आला मज़हबी रहनुमाओं के बाद अब लेबनान की शीया अस्करीयत पसंद तंज़ीम हिज़्बुल्लाह के सरबराह हसन नसरुल्लाह ने भी मुमताज़ सऊदी शीया आलिम शेख़ नमर बाक़िर अल नमर को सज़ा-ए-मौत देने पर सऊदी शाही ख़ानदान को कड़ी तन्क़ीद का निशाना बनाया है।

उधर ईरान के सदर हसन रुहानी ने ईरानी मुज़ाहिरीन की जानिब से तेहरान और मशहद में सऊदी सिफ़ारतख़ानों पर हमलों की मुज़म्मत की है। लेबनानी दारुल हुकूमत बेरूत में अपने ख़िताब में हसन नसरुल्लाह का कहना था कि आले सऊद दुनिया भर में शीया और सुन्नी मुसलमानों में ख़ानाजंगी की आग भड़काना चाहते हैं।

उन्होंने कहा कि शेख़ अल नमर का ख़ून यौम हिसाब तक आले सऊद के लिए तबाही लाएगा। हसन नसरुल्लाह का कहना था कि सऊदी हुकूमत को दुनिया भर के उन करोड़ों मुसलमानों के जज़बात की परवाह नहीं है जो इस इक़दाम से मजरूह हुए हैं।

TOPPOPULARRECENT