Tuesday , May 22 2018

आवास बोर्ड की जमीन व फ्लैट होंगे फ्री होल्ड

बिहार रियासत आवास बोर्ड की रियासत भर की जमीनों व फ्लैटों में रहनेवालों को सरकार फ्री होल्ड करने की तैयारी में है। इस मामले को लेकर जुमा को चीफ़ सेक्रेटरी अंजनी कुमार सिंह की सदारत में बैठक हुई। इस दौरान इससे मुतल्लिक़ तजवीज तैयार क

बिहार रियासत आवास बोर्ड की रियासत भर की जमीनों व फ्लैटों में रहनेवालों को सरकार फ्री होल्ड करने की तैयारी में है। इस मामले को लेकर जुमा को चीफ़ सेक्रेटरी अंजनी कुमार सिंह की सदारत में बैठक हुई। इस दौरान इससे मुतल्लिक़ तजवीज तैयार कर जल्द ही कैबिनेट में पेश करने की बात कही गयी।

बोर्ड की जमीन को फ्री-होल्ड करने से जुड़ा फ़ाइल तकरीबन तैयार हो चुका है। इसे हत्मी शक्ल दिया जा रहा है। तीन-चार दिनों में बोर्ड इसे शहर तरक़्क़ी और आवास महकमा को भेज देगा। इसके बाद इसे कैबिनेट में पेश करने की तैयारी शुरू कर दी जायेगी।

दारुल हुकूमत में तीन हजार फ्लैट

बिहार में यह पहली बार होने जा रहा है कि आवास बोर्ड की सूबे के कई शहरों में मौजूद जमीन और फ्लैट को इनमें रहनेवालों को हमेशा के लिए ट्रांसफर कर दिया जायेगा। इसके तहत पटना के कंकड़बाग, लोहियानगर, हनुमान नगर, कृष्णा नगर, नागेश्वर कॉलोनी, दीघा समेत दीगर कई मोहल्लों में करीब तीन हजार फ्लैट और जमीन हैं। लोहियानगर में 450 और हनुमान नगर में 950 ऐसे प्लॉट मौजूद हैं।

दीगर शहरों में भी मिलेगा फाइदा

पटना के अलावा आरा, गया, डेहरी एंड सोन, सासाराम, पूर्णिया, भागलपुर, समस्तीपुर, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, छपरा समेत दीगर कई शहरों में आवास बोर्ड की जमीन मौजूद है। रियासत भर में बोर्ड की करीब 19 हजार जमीन या मौजूद है। हालांकि दीगर रियासतों में यह निजाम पहले से ही है।

रजिस्ट्री का देना होगा फीश

इन जमीनों पर मौजूदा में जो लोग रह रहे हैं, उन्हें जमीन अपने नाम पर रजिस्ट्री कराने के लिए सरकार को रजिस्ट्री फीस देनी होगी। हालांकि, अभी यह तय नहीं हुई है कि यह फीस बाजार कीमत के मुताबिक होगी या हुकूमत इसमें कोई रियायत बरतेगी। इसे लेकर फैसला सरकार के सतह पर होना है। मौजूदा तजवीज के मुताबिक जमीन रजिस्ट्री की फीस कहीं दो फीसद लगेगी, तो कहीं यह 22 फीसद तक हो सकती है। कहीं-कहीं यह 5, 12 और 15 फीसद भी होगी।

आसानी से बेच सकेंगे जमीन

फ्री-होल्ड पर जमीन ट्रांसफर होने से जमीन मालिक आसानी से इसे बेच सकते हैं। मौजूदा में इसे बेचने के लिए आवास बोर्ड से इजाजत लेनी पड़ती है और जमीन का आधा पैसा भी बोर्ड में जमा करना होता है। यह उनकी अपनी मिलकियत हो जायेगी। इसे वे अपनी जायदाद के तौर पर कहीं भी दिखा सकते हैं। साथ ही इस पर बैंक से लोन भी हासिल कर सकते हैं। अभी लीज होल्ड की जमीन पर बैंक से लोन नहीं मिलता है।

TOPPOPULARRECENT