Tuesday , November 21 2017
Home / Crime / आशिक ने माशूका को बुलाकर दोस्तों से कराया गैंगरेप

आशिक ने माशूका को बुलाकर दोस्तों से कराया गैंगरेप

यूपी में मुरादाबाद के कांठ सर्किल के एक गांव में नाबालिग तालिबा के साथ गैंगरेप की हैवानियत भरा वाकिया सामने आया है. करीब 14 साल की तालिबा के साथ आशिक और उसके दो दोस्तों ने गैंगरेप किया और मोबाइल फोन से उसकी अश्लील वीडियो की क्लिप भी तैयार कर ली.

दरिंदो ने मुतास्सिरा को धमकाया कि अगर घर वालों या पुलिस के सामने मुंह खोला तो उसका अश्लील वीडियो इंटरनेट पर डाल देंगे. वाकिया के वक्त तालिबा आशिक के बुलावे पर उससे मिलने जंगल में गई थी. लेकिन आशिक ने अपने दो दोस्तों को भी वहां बुला लिया.

रेप का जो वीडियो सामने आया है कि उसमें तालिबा दरिंदों के आगे रोते गिड़गिड़ाते दिखाई दे रही है और दरिंदे उसके साथ मारपीट भी कर रहे हैं.

नाबालिग तालिबा से गैंगरेप का जो वीडियो सामने आया है उसमें दो नौजवान को तालिबा के साथ जबरदस्ती करते दिखाया गया है. जंगल में एक झोंपड़ी में पड़ी चारपाई पर मुल्ज़िमों ने नाबालिग तालिबा को जबरदस्ती पकड़ रखा है. रोती बिलखती तालिबा खुद को छोड़ने की गुहार लगा रही है लेकिन दरिंदे उसे धमकाकर उसके साथ रेप कर रहे हैं.

बार-बार जबरन तालिबा का चेहरा कैमरे के सामने लाया जा रहा है. एहतिजाज करने पर छात्रा को पीटा भी जा रहा है. घिनौनी वाकिया में शामिल दोनों नौजवानों की हैवानियत वीडियो में साफ दिख रही है. वीडियो में दो नौजवानों के चेहरे साफ दिख रहे हैं.

वाकिया के बाद से मुतास्सिरा और उसका खानदान दहशत में है. वीडियो के साथ भेजी गई चिट्ठी में कहा गया है कि मुतास्सिरा खानदान बेहद तनाव में है और इज्तिमायी खुदकुशी का मंसूबा बना रहा है. उधर, एसओ छजलैट ध्रुव कुमार का कहना है कि उन्हें ऐसी किसी वाकिया की कोई तहरीर नहीं मिली है.

नाबालिग तालिबा से रेप की हैवानियत भरा वाकिया में पुलिस अपने पुराने ढर्रे पर काम कर रही है. रेप का वीडियो सामने आने के बाद भी एसओ छजलैट का कहना है कि कोई तहरीर नहीं है लिहाजा पुलिस कुछ नहीं कर सकती है.

एसओ छजलैट ने दावा किया कि खत में मुतास्सिरा के दादा का जो नाम पता लिखा है उस पते पर जाकर पुलिस ने बात की है, लेकिन उन्होंने वाकिया की जानकारी से इंकार किया है.

मामले पर डीआईजी ओंकार सिंह ने कहा है ‌कि मुकदमा दर्ज करके मुल्ज़िमों को ट्रेस किया जाएगा. उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी. इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि मुतास्सिरा की तरफ से से कोई तहरीर देता है या नहीं.

ये भी मुमकिन है कि लोक लाज के डर से मुतास्सिरा के घर वाले वाकिया को नकार रहा हो या दबंगों के डर से कार्रवाई में झिझक रहा हो. पुलिस का ये काम है कि वाकिया का रोशनी मे आने के बाद फौरन कार्रवाई करे. ऐसे अनासिर को समाज में खुला नहीं छोड़ा जा सकता.

TOPPOPULARRECENT