आसनसोल हिंसा: राज्यपाल के दौरे के लिए पुलिस ने सुरक्षा देने से खड़े किए हाथ!

आसनसोल हिंसा: राज्यपाल के दौरे के लिए पुलिस ने सुरक्षा देने से खड़े किए हाथ!

पश्चिम बंगाल में चल रही हिंसा अभी थमती नहीं दिख रही है। जहां एक तरफ ममता बनर्जी दिल्ली में भाजपा विरोधी मोर्चा बनाने के कवायद में जुटी हुई हैं वहीं बंगाल के कई जिलों में रामनवमी के बाद से हिंसा की स्थिति बनी हुई है।

बंगाल के आसनसोल और रानीगंज में हिंसा भड़कने के चलते पालयन जैसी स्थिति बन गई है। तो वहीं अब राज्य के गवर्नर केसरीनाथ त्रिपाठी तक को राज्य पुलिस ने सुरक्षा देने हाथ खड़े कर दिए हैं।

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी कई दिनों तक हिंसा से घिरे रहे वर्धमान जिले में दौरा करना चाहते थे लेकिन राज्य पुलिस द्वारा सुरक्षा दे पाने में असमर्थता जता देने के बाद से उनका ये दौरा खटाई में पड़ता दिख रहा है।

केसरीनाथ त्रिपाठी 25 मई को एक बम से हमले में हाथ जख्मी करने वाले आसनसोल पुलिस अधिकारी अरिंदम दत्ता चौधरी से मिलने दुर्गापुर हॉस्पिटल जाना चाहते थे लेकिन राज्य पुलिस ने तनावपूर्ण स्थिति के चलते महामहीम राज्यपाल को दौरे ना करने की सलाह दी है।

राज्यपाल के प्रेस सचिव द्वारा जारी बयान में कहा गया है, ‘‘ राज्य पुलिस ने सूचित किया है कि इलाके में पुलिस की तैनाती को देखते हुए यात्रा के दौरान माननीय राज्यपाल को पर्याप्त सुरक्षा उपलब्ध कराने में कठिनाई होगी।’’

सरकार ने कहा कि रानीगंज और आसनसोल के निकटवर्ती क्षेत्रों के साथ- साथ हिंसा प्रभावित इलाके में स्थिति तनावपूर्ण है और‘ राज्यपाल को दुर्गापुर की यात्रा का परामर्श दिये जाने लायक नहीं है।’ सरकार ने समाज के हर तबके से शांति बनाये रखने की अपील की है।

Top Stories