Wednesday , June 20 2018

आसाम के तीन अज़ला में ग़ैर मुअय्यना मुद्दत का कर्फ़यू जारी

ताज़ा तशद्दुद के वाक़ियात , मुतास्सिरीन फ़साद की आजलाना बाज़ आबादकारी का सी पी आई ऐम का मुतालिबा मग़रिबी आसाम के ढबरी ज़िला के बाअज़ हिस्सों में तसादुम के बाद पिछली रात लगाया गया ग़ैर मुअय्यना मुद्दत का कर्फ़यू आज भी नाफ़िज़ रहा।इन तसादु

ताज़ा तशद्दुद के वाक़ियात , मुतास्सिरीन फ़साद की आजलाना बाज़ आबादकारी का सी पी आई ऐम का मुतालिबा मग़रिबी आसाम के ढबरी ज़िला के बाअज़ हिस्सों में तसादुम के बाद पिछली रात लगाया गया ग़ैर मुअय्यना मुद्दत का कर्फ़यू आज भी नाफ़िज़ रहा।इन तसादुमों में जो जुमा की रात में शरपसंदों के हाथों एक मंदिर की बेहुर्मती के बाद कल शाम को शुरू हुए थे,एक शख़्स हलाक और दो ज़ख़मी होगए थे।

ज़िला के बिलास पाड़ा और ढबरी सब डिवीज़नों में कल शाम उस वक़्त ग़ैर मुअय्यना मुद्दत का कर्फ़यू नाफ़िज़ करदिया गया था, जब एक हुजूम ने रात के कर्फ़यू अहकामात की ख़िलाफ़वरज़ी करते हुए मंदिर में चोरी और इस की बेहुर्मती के ख़िलाफ़ एहतिजाज में जलूस निकाला था।

वाज़िह रहे कि मग़रिबी आसाम में नसली फ़सादाद के नतीजे में पिछली जुलाई से ही रात का कर्फ़यू नाफ़िज़ है। नामालूम शरपसंदों ने जुमा की रात एक मंदिर में घुस कर ना सिर्फ पाँच लाख रुपय की अश्या चोरी करली थी बल्कि काली देवी की मूर्ती को भी नुक़्सान पहुंचाया था जिस से इलाक़ा में तनाव पैदा होगया था। बाद में कल शाम नामालूम शर बदमाशों ने हमला करके एक शख़्स को हलाक और दीगर दो को ज़ख़मी करदिया जिस से मुश्तइल होकर मुक़ामी अफ़राद रात के कर्फ़यू की ख़िलाफ़वरज़ी करते हुए सड़कों पर उतराये।

बाद में ज़िला दो सब डिवीज़नों में ग़ैर मुअय्यना मुद्दत का कर्फ़यू नाफ़िज़ करदिया गया। इस दौरान हमले के सिलसिले में बारह अफ़राद को हिरासत में लिया गया है।नई दिल्ली से पी टी आई की इत्तिला के बमूजब आसाम के बोडो इलाक़ाई ख़ुद इख़तियार ज़िला में तशद्दुद के वाक़ियात में सी पी आई ऐम ने आज मुतालिबा किया कि मुतास्सिरीन फ़सादाद की आजलाना बाज़ आबादकारी के इंतिज़ामात किए जाएं और क़ौमी रजिस्टर बराए हिंदूस्तानी शहरयान 1971 की बुनियाद पर एक फ़हरिस्त तैय्यार की जाय और तमाम शहरीयों को फ़ोटो शनाख़ती कार्ड जारी किए जाएं ।

सी पी आई ऐम की पोलीट ब्यूरो ने इंतिबाह दिया कि आसाम की सूरत-ए-हाल का मुख़्तलिफ़ मुजरिमाना और इंतिशार पसंद ताक़तें इस्तिहसाल कररही हैं और मुल्क के शुमाल मशरिक़ी इलाक़े में मुजरिमाना और इंतिशार पसंद ताक़तों की सरगर्मीयों के बारे में सख़्त चौकसी इख़तियार करना ज़रूरी है ।

सी पी आई ऐम के पोलीट ब्यूरो के ब्यान में कहा गया है कि क़ौमी रजिस्टर बराए हिंदूस्तानी शहरीयाँ 1970 की बुनियाद पर फ़हरिस्त राय दहिंदगान तैय्यार की जाय और इसी की बुनियाद पर तमाम शहरीयों को राय दहिंदा फ़ोटो शनाख़ती कार्ड जारी किए जाएं । पार्टी हुकूमत पर ज़ोर दिया कि तेज़ रफ़्तार इक़दामात किए जाएं ताकि दो लाख 40 हज़ार बेघर अफ़राद जो राहत रसां कैम्पों में मुक़ीम हैं अपनी क़ियामगाहों को वापिस आसकें और उन की आजलाना बाज़ आबादकारी की जाय ।

सी पी आई ऐम ने मुख़्तलिफ़ इंतहापसंदों ताक़तों की मज़म्मत की जो रियासत में अवाम की फ़िर्कावाराना और नसली बुनियादों पर सफ़ बंदी करने के ख़ाहां हैं ।

TOPPOPULARRECENT