Tuesday , December 12 2017

आसाम सैलाब : ज़ाइद अज़ 400 अफ़राद महफ़ूज़ मुक़ामात को मुंतक़िल

गुज़शता 20 दिनों के दौरान शदीद सैलाब से मुतास्सिरा ( परभावित) रियासत ( राज्य) आसाम में हिंदूस्तानी फ़िज़ाईया ने 400 से ज़ाइद मुतास्सिरीन को महफ़ूज़ मुक़ामात ( स्थानो) पर मुंतक़िल किया । दरीं असना एयर कमांडर पी ए पतंगे जिन का ताल्लुक़ इस्टर्न ए

गुज़शता 20 दिनों के दौरान शदीद सैलाब से मुतास्सिरा ( परभावित) रियासत ( राज्य) आसाम में हिंदूस्तानी फ़िज़ाईया ने 400 से ज़ाइद मुतास्सिरीन को महफ़ूज़ मुक़ामात ( स्थानो) पर मुंतक़िल किया । दरीं असना एयर कमांडर पी ए पतंगे जिन का ताल्लुक़ इस्टर्न एयर कमांड से है ने कहा कि रियासत के मुख़्तलिफ़ ज़ेर-ए‍आब ( पानी में डूबे) इलाक़ों से 400 अफ़राद को बचाने के इलावा हिंदूस्तानी फ़िज़ाईया ने कई हज़ार टन रीलीफ़ मटेरियल भी मुंतक़िल किया जो मुतास्सिरीन में तक़सीम किया जाएगा ।

मिस्टर पतंगे ने अख़बारी नुमाइंदों से बात करते हुए कहा कि शीलांग के इस्टर्न कमांड हेडक्वार्टर्स में एक डीसास्टर मैनेजमेंट सेल ने भी काम करना शुरू कर दिया है । इलावा अज़ीं ( इसके अतिरिक्त) आसाम में भी कई मुक़ामात ( जगहों) पर सेल क़ायम किए गए हैं । याद रहे कि शुमाल मशरिक़ में मिस्टर पतंगे ट्रांसपोर्ट और हेलीकाप्टर ऑप्रेशन के शोबा में आई ए एफ़ इंचार्ज हैं ।

उन्होंने कहा कि डबरो गढ़ के मोहन बारी इलाक़ा में i-17 के दो हेली कापटर्स को तीज़पूर में दो चेतक और एक Mi-17 को गोहाटी में तैयार रखा गया है । इसके इलावा राहत कारी कामों के लिए जोरहाट में दो AN-32 ट्रांसपोर्ट तैयारों ( विमानो) को भी तैयार रखा गया है । आई ए एफ़ की जानिब से मुतास्सिरा ( प्रभावित) इलाक़ों में ग़िज़ाई पैकेट्स गिराए जाने का सिलसिला भी हनूज़ ( अभि तक) जारी है और जगह जगह मेडीकल कैंप भी लगाए गए हैं ।

TOPPOPULARRECENT