Saturday , December 16 2017

आसाराम पूरे महीने जेल में रहेंगे

इस्मतरेज़ि के इल्ज़ाम में फंसे आसाराम की हाईकोर्ट में जमानत की दरखास्त पर सुनवाई टल गई है। आसाराम अब 30 स‌ितंबर तक जेल में ही रहेंगे।

इस्मतरेज़ि के इल्ज़ाम में फंसे आसाराम की हाईकोर्ट में जमानत की दरखास्त पर सुनवाई टल गई है। आसाराम अब 30 स‌ितंबर तक जेल में ही रहेंगे।

नाबालिग से रेप के मामले में फंसे आसाराम को 30 सितम्बर तक जोधपुर सेंट्रल जेल में ही रहना पड़ेगा। जोधपुर हाईकोर्ट से आज ( बुध) आसाराम के वकील राम जेठमलानी ने और सुबूत पेश करने के लिए वक्त मांगा है।

जिसके बाद जोधपुर हाईकोर्ट ने उनकी जमानत अर्जी पर समआत की अगली तारीख 1 अक्टूबर तय की। हाईकोर्ट में आज प्रासीक्यूटर की ओर से तकरीबन सवा दो घंटे की बहस की गई।

आसाराम के लिए जेल में खाना व दिगर सहूलियात के इंतेज़ाम को लेकर सुनवाई कल यानी जुमेरात को होगी। हाईकोर्ट में प्रासीक्यूटर की ओर से आनन्द पुरोहित (Additional Solicitor General) ने आसाराम को जमानत नहीं देने को लेकर अपनी बहस पूरी की, राम जेठमलानी ने अदालत से और सुबूत पेश करने के लिए वक्त मांग लिया।

प्रासीक्यूटर ने यह कहते हुए मुखालिफत की कि बेल के मामले में गुजश्ता पीर के दिन बचाव पार्टी की बहस पूरी हो चुकी है, ऐसे में वक्त की जरूरत ही नहीं है।

जज ने वक्त को लेकर राय बनाने के लिए दोनों वकीलों को आपस में बात करने के लिए दस मिनट दिए। दोनों पार्टी की राय मिलने के बाद अदालत ने सुनवाई की नई तारीख दे दी।

प्रासीक्यूटर ने अपनी दलीलों में कहा कि मामले में पुलिस ने अब तक चार्जशीट दाखिल नहीं की है, अगर ऐसे मुल्ज़िम को छोड़ दिया गया, तो वह मामले को हर सतह पर असर अंदाज़ करने की कोशिश कर सकता है।

इस मामले में पुलिस को भी धमकियां व लालच मिल चुके हैं। पुलिस जांच में मुतास्सिरा के बयान सही पाए गए हैं। वाकिया वाले दिन और इससे पहले आसाराम समेत सभी मुल्ज़िम राबिते में थे।

जो वाकिया से पहले की साजिश की ओर इशारा कर रही है। Additional Solicitor General ने अदालत से कहा कि मुतास्सिरा ता की ओर से मजिस्ट्रेट के सामने दिए गए 164 के बयानों से अंदाजा लगाया जा सकता है कि उसके साथ रेप की हद तक बदसुलूकी की गयी थी। उसे और उसके घर वालों को जान से मारने की धमकी दी गई।

——-बशुक्रिया: अमर उजाला

TOPPOPULARRECENT