Wednesday , December 13 2017

आसफ़जाही निज़ाम सीमांध्र हुक्मरानी से हज़ार गुना बेहतर :यादव रेड्डी

कांग्रेस के रुकन क़ानूनसाज़ कौंसिल यादव रेड्डी ने सीमांध्र क़ाइदीन की तरफ से साबिक़ रियासत हैदराबाद के फ़रमां रवां आसफ़जाह साबह नवाब मीर उसमान अली ख़ान बहादुर पर सीमांध्र के क़ाइदीन की तरफ से की गई तन्क़ीदों की आज सख़्त अलफ़ाज़ में मज़म्मत

कांग्रेस के रुकन क़ानूनसाज़ कौंसिल यादव रेड्डी ने सीमांध्र क़ाइदीन की तरफ से साबिक़ रियासत हैदराबाद के फ़रमां रवां आसफ़जाह साबह नवाब मीर उसमान अली ख़ान बहादुर पर सीमांध्र के क़ाइदीन की तरफ से की गई तन्क़ीदों की आज सख़्त अलफ़ाज़ में मज़म्मत की।

रियासती क़ानूनसाज़ कौंसिल में रियासती तंज़ीम जदीद बिल पर बेहस के दौरान मुदाख़िलत करते हुए यादव रेड्डी ने कहा कि हुज़ूर निज़ाम का इंतेज़ामीया सीमांध्र के सियासतदानों की हुक्मरानी से हज़ार गुना बेहतर था।

उन्होंने कहा कि हुज़ूर निज़ाम की साबिक़ आसफ़जाही हुकूमत के ख़िलाफ़ कोई तबसरा करने से पहले सीमांध्र क़ाइदीन को साबिक़ फ़रमां रवां की हुक्मरानी के बारे में जान लेना चाहीए था।

मिस्टर यादव रेड्डी ने कहा कि सीमांध्र क़ाइदीन इस बात से बिलकुल बेख़बर हैं 1956 से पहले हैदराबाद किया था। यादव रेड्डी ने कहा कि निज़ाम के ख़िलाफ़ सीमांध्रई क़ाइदीन के बयानात इंतिहाई क़ाबिल-ए-मज़म्मत और नाक़ाबिल बर्दाश्त हैं।

TOPPOPULARRECENT