Monday , November 20 2017
Home / Uttar Pradesh / आज़म खान का पलटवार, राष्ट्रपति भवन, संसद भवन, लाल किला भी हैं ग़ुलामी के प्रतीक

आज़म खान का पलटवार, राष्ट्रपति भवन, संसद भवन, लाल किला भी हैं ग़ुलामी के प्रतीक

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश के पर्यटन स्थलों की सूची से ताजमहल के नाम को हटाने के बाद से राजनीतिक सरगर्मियां तेज़ हो गयीं हैं| बीजेपी के नेता संगीत सोम ने ताजमहल पर आपत्तिजनक टिप्पड़ी  करते हुए कहा कि ‘ये भारतीय संस्कृति पर एक धब्बा है’| उन्होंने कहा कि इतिहास को गलत तरीके से पेश किया गया है| साथ में ये भी कहा कि 17वीं शताब्दी में संगमरमर की यह इमारत बनवाने वाले शाहजहां ने अपने पिता को जेल में डाल दिया था और उनके साथ बर्बरता वाला व्यव्हार किया| उन्होंने कहा की वह देश से हिंदुओं का नामो निशान मिटा देना चाहता था।

इसके बाद सपा नेता आज़म खान ने पलटवार करते हुए कहा कि ताजमहल ही नहीं, राष्ट्रपति भवन, संसद भवन, लाल किला को भी गिरा दिया जाना चाहिए क्योंकि ये सभी इमारतें गुलामी के प्रतीक हैं| आज़म खान ने कहा कि वो हर एक चीज़ गिरा दो जो गुलामी के प्रतीक के अंतर्गत आती हों| उन्होंने यह भी कह दिया कि अगर यूपी सरकार ताजमहल को तुड़वाने की पहल करती है तो वह इसके समर्थन में आगे आएंगे

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश के पर्यटन स्थलों की सूची से ताजमहल के नाम हटाने जाने से लोगों में काफी निराशा और गुस्सा देखने को मिला दुनियाभर में अजूबा में शुमार ताजमहल आज इतिहास के पन्नों से मिटता दिख रहा है| जिसकी वजह से लोग यूपी को जानते हैं आज उसी को ख़त्म करने पर लगे हैं| इस बात पर सरधना विधायक संगीत सोम ने टिप्पड़ी करते हुए कहा कि

हम किस इतिहास की बात कर रहे हैं। किसका इतिहास?” उन्होंने कहा, “ताजमहल (शाहजहां) का निर्माण कराने वाले ने अपने पिता को कैद कर दिया था। अगर ऐसे लोग हमारे इतिहास का हिस्सा हैं, तो यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है।  “मैं आपको सुनिश्चित करता हूं कि हम इस इतिहास को बदल देंगे।”

विश्व के सात अजूबों में से एक ताजमहल  को शाहजहां ने अपनी प्रिय पत्नी मुमताज महल की याद में बनवाया था।

 

शरीफ़ उल्लाह

TOPPOPULARRECENT