Tuesday , August 21 2018

आज़ाद ममलकत फ़लस्तीन का बहुत जल्द क़ियाम यक़ीनी :सलमान ख़ुरशीद

हैदराबाद।18सितंबर, ( सियासत न्यूज़ ) हिंदूस्तान इबतदा से ही फ़लस्तीनी काज़ का हामी है और अक़वाम-ए-मुत्तहिदा में फ़लस्तीन की खुल कर हिमायत करचुका है। मर्कज़ी वज़ीर-ए-क़ानून जनाब सलमान ख़ुरशीद ने आज इंडो अरब लीग के ज़ेर-ए-एहतिमाम जुबली हाल बाग़ आम्मा में मुनाक़िदा जल्सा-ए-आम से ख़िताब के दौरान इन ख़्यालात का इज़हार किया। उन्हों ने अक़वाम-ए-मुत्तहिदा की रुकनीयत के हुसूल के लिए कोशां फ़लस्तीन से इज़हार यगानगत करते हुए कहा कि हिंदूस्तान ने हमेशा आलमी सतह पर फ़लस्तीन के वजूद को तस्लीम करने के मुतालिबा की हिमायत की है। उन्हों ने बताया कि हिंदूस्तान की ख़िलाफ़त तहरीक और फ़लस्तीन की तहरीक अनतफ़ादा में कोई फ़र्क़ नहीं है, दोनों तहरीकें अपनी सरज़मीन की आज़ादी केलिए चलाई जाने वाली तहरीकें हैं। जनाब सलमान ख़ुरशीद ने फ़लस्तीनी अवाम से इज़हार यगानगत करते हुए कहा कि ये इंसानियत का फ़रीज़ा है कि वो फ़लस्तीनी अवाम के हुक़ूक़ के तहफ़्फ़ुज़ केलिए आवाज़ बुलंद करें। अक़वाम-ए-मुत्तहिदा की रुकनीयत के हुसूल केलिए फ़लस्तीन की कोशिशों पर नेक तमनाॶं का इज़हार करते हुए जनाब सलमान ख़ुरशीद ने बताया कि उन्हें इस बात का यक़ीन है कि वो अपने दीगर हामी ममालिक की मदद से अपनी इस कोशिश में ज़रूर कामयाब होंगे। उन्हों ने बताया कि हिंदूस्तान की जानिब से फ़लस्तीन। इसराईल मुज़ाकरात केलिए दबाॶ बढ़ाया जाएगा ताकि इलाक़े में जारी शोरिश के ख़ातमा को यक़ीनी बनाया जा सकी। उन्हों ने बताया कि हिंदूस्तान की जानिब से हमेशा ही फ़लस्तीन की मुदाफ़अत की जाती रही है और इसराईल पर मुज़ाकरात के आग़ाज़ केलिए दबाव भी डाला गया है। उन्हों ने इस बात का तीक़न दिया कि फ़लस्तीन की बाज़ आबादकारी केलिए योरोपी-ओ-अमरीकी ममालिक की जानिब से नजरअंदाज़ किए जाने के बाद सिर्फ हिंदूस्तान ही था जो फ़लस्तीन की बाज़ आबादकारी केलिए इस ममलकत का तआवुन करता रहा।जनाब सलमान ख़ुरशीद ने मौजूदा अरब दुनिया के हालात का तज़किरा करते हुए कहा कि मौजूदा हालात को मद्द-ए-नज़र रखते हुए ये बात यक़ीन के साथ कही जा सकती है कि बहुत जल्द फ़लस्तीन में तबदीली रौनुमा होगी और फ़लस्तीन के अवाम को इन का अपना मुल्क हासिल होजाएगा। इंडो अरब लीग की जानिब से मुनाक़िदा इस जल्सा-ए-आम में जस्टिस ग़ुलाम मुहम्मद के इलावा सफ़ीर यमन मुहतरमा ख़दीजा रोमान मुहम्मद ग़नीम, चीफ़ आफ़ मिशन अरब लीग जनाब अहमद सालिम अलवाहशी, सफ़ीर फ़लस्तीन जनाब उदली शाबान हुस्न सादिक़, जनाब अज़ीज़ पाशाह, जनाब मुहम्मद अदीब अरकान-ए-पार्लीमैंट, जनाब पी मधु साबिक़ रुकन पार्लीमैंट, प्रोफ़ैसर इलावा दीगर मौजूद थी।सफ़ीर फ़लस्तीन जनाब उदली शाबान हुस्न सादिक़ ने अपने ख़िताब के दौरान हिंद। फ़लस्तीन ताल्लुक़ात को क़दीम और मज़बूत क़रार देते हुए कहा कि फ़लस्तीनी अवाम हिंदूस्तान में जारी दहश्तगर्दी जिस में बेक़सूर अवाम की जानें तलफ़ होरही हींके ख़िलाफ़ हिंदूस्तानी अवाम के साथ हैं और दहश्तगर्दी का मुक़ाबला करने केलिए हमेशा उन की हिमायत करते हैं।सफ़ीर फ़लस्तीन ने बताया कि हिंदूस्तान पर दहश्त गरदाना हमलों से सिर्फ इसराईल को बेइंतिहा ख़ुशी होती है जिस में बे क़सूर अवाम की जानें ज़ाए होती हैं।

TOPPOPULARRECENT