Monday , December 18 2017

आज़ाद मैदान तशद्दुद : मौलाना अहमद रज़ा गिरफ़्तार

मुंबई, 05 दिसंबर: (पीटीआई) अब जबकि आज़ाद मैदान तशद्दुद वाक़िया को तक़रीबन चार माह का अर्सा गुज़र चुका है जिसमें 2 अफ़राद हलाक और 65 दीगर ज़ख्मी हो गए थे और 2.72 करोड़ रुपये की इमलाक को नुक़्सान पहुंचाया गया था।

मुंबई, 05 दिसंबर: (पीटीआई) अब जबकि आज़ाद मैदान तशद्दुद वाक़िया को तक़रीबन चार माह का अर्सा गुज़र चुका है जिसमें 2 अफ़राद हलाक और 65 दीगर ज़ख्मी हो गए थे और 2.72 करोड़ रुपये की इमलाक को नुक़्सान पहुंचाया गया था।

पुलिस ने आज़ाद मैदान में मुनाक़िद की गई इस रैली के कलीदी मुंतज़िम मौलाना अहमद रज़ा को गिरफ़्तार कर लिया है, जिन्हें आज अदालत में पेश किया जाएगा। मदीनतुल-उलूम नामी एन जी ओ के सेक्रेटरी मौलाना रज़ा को क़त्ल, साज़िश, फ़साद, अवामी और ख़ानगी इमलाक को नुक़्सान पहुंचाने की पादाश में गिरफ़्तार किया गया है, जिन में गै़रक़ानूनी तौर पर अवाम के इजतिमा का इल्ज़ाम भी शामिल है।

पुलिस ज़राए ने बताया कि गुज़शता माह पुलिस की जानिब से 3384 सफ़हात पर मुश्तमिल फ़र्द-ए-जुर्म का इदख़ाल अमल में आया था, जिसमें आज़ाद मैदान तशद्दुद में मुलव्वस 57 अफ़राद को कुसूरवार ठहराया गया था और अब तक 50 अफ़राद की गिरफ़्तारी अमल में आ चुकी है।

इन में से चार मुल्ज़िमीन ऐसे हैं जिन पर ख़ातून पुलिस अहलकारों के साथ दस्त दराज़ी किए जाने का इल्ज़ाम भी आइद किया गया है। यहां इस बात का तज़किरा एक बार फिर ज़रूरी है कि 11 अगस्त को रज़ा एकेडमी ने आज़ाद मैदान में मयनमार में मुसलमानों पर ढाए जा रहे ज़ुल्म व सितम और उनके क़त्ल-ए-आम पर तबादला-ए-ख़्याल करने बतौर‍ ए‍ एहतिजाज एक ज़बरदस्त रैली का एहतिमाम किया था।

मौलाना रज़ा ने पुलिस से सिर्फ़ 1500 अफ़राद की शिरकत की इजाज़त हासिल की थी लेकिन आज़ाद मैदान में 15000 अफ़राद की भीड़ जमा हो गई जो तशद्दुद पर उतर आई क्योंकि उन्हें बाअज़ क़ाइदीन ने अपनी तक़रीरों के ज़रीया मुश्तइल किया था। तशद्दुद फूट पड़ते ही शरपसंदों ने मीडीया Vans और पुलिस Vans को निशाना बनाते हुए उन्हें नुक़्सान पहुंचाया।

ख़ातून पुलिस अहलकारों के साथ जिन्सी दस्तदराज़ी की गई जबकि बाअज़ शरपसंद पुलिस के हथियार लेकर फ़रार हो गए।

TOPPOPULARRECENT