Friday , December 15 2017

इंटरनेट से इश्तिआल अंगेज़ मवाद निकालने की हिमायत मारकंडे काटजू

नई दिल्ली १३ दिसम्बर:( पी टी आई ) मर्कज़ी वज़ीर टेलीकॉम मिस्टर कपिल सिब्बल को आज प्रेस कौंसल की ताईद हासिल हुई जबकि इस के सदर नशीन मिस्टर मारकंडे काटजू ने कहा कि वो सोशल नेटवर्किंग साईट्स पर पेश किए जाने वाले मवाद की सेंसर शिप की हिमा

नई दिल्ली १३ दिसम्बर:( पी टी आई ) मर्कज़ी वज़ीर टेलीकॉम मिस्टर कपिल सिब्बल को आज प्रेस कौंसल की ताईद हासिल हुई जबकि इस के सदर नशीन मिस्टर मारकंडे काटजू ने कहा कि वो सोशल नेटवर्किंग साईट्स पर पेश किए जाने वाले मवाद की सेंसर शिप की हिमायत की और कहा कि ऐसा ना करने से फ़िर्क़ा वारना नफ़रत फैल सकती है ।

उन्हों ने कहा कि इंटरनैट की बाअज़ साईट्स पर बाअज़ बिरादरीयों की मज़हबी शख़्सियतों की तसावीर और उन के ताल्लुक़ से मवाद इंतिहाई इश्तिआल अंगेज़ अंदाज़ में और बाअज़ मर्तबा तो उर्यां अंदाज़ में पेश किया जाता है ।

इस तरह के मवाद से मज़हबी मुनफ़रत फैल सकती है और इस के संगीन अवाक़िब भी होसकते हैं। मिस्टर काटजू ने अपने एक ब्यान में कहा कि मिस्टर कपिल सिब्बल के हालिया ब्यान पर जो तनाज़ा पैदा हुआ था इस का उन्हों ने जायज़ा लिया है ।

उन्हों ने कुछ साईट्स के मवाद और तसावीर का भी जायज़ा लिया है जो इंतिहाई इश्तिआल अंगेज़ भी कहा जा सकता है । उन्होंने कहा कि कुछ तसावीर और मवाद में ना सिर्फ कुछ फ़िरक़ों की मज़हबी शख़्सियतों को इंतिहाई इश्तिआल अंगेज़ अंदाज़ में पेश किया गया है बल्कि ये आम इंटरनैट इस्तिमाल करने वालों के लिए भी इंतिहाई नामुनासिब और जारिहाना कहे जा सकते हैं।

TOPPOPULARRECENT