उन्नाव- पीड़िता की मौत के बाद परिवार से मिलने पहुचे साक्षी महाराज को लोगों ने खदेड़ा !

उन्नाव- पीड़िता की मौत के बाद परिवार से मिलने पहुचे साक्षी महाराज को लोगों ने खदेड़ा !

उन्नाव में जिंदा जलाई गई गैंगरेप पीड़िता की मौत के बाद देशभर में गुस्सा है. जगह-जगह प्रदर्शन हो रहे हैं. प्रदर्शकारी उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल उठा रहे हैं. इस बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य सरकार के दो मंत्रियों कमल रानी और स्वामी प्रसाद मौर्य को उन्नाव के गांव जाने का तत्काल निर्देश दिया.

दोनों नेता उन्नाव से सांसद साक्षी महाराज के साथ आज उन्नाव पहुंचे. जहां उन्हें भारी विरोध का सामना करना पड़ा. गांव में मौजूद कांग्रेस कार्यकर्ताओं और स्थानीय लोगों ने मंत्री जी वापस जाओ के नारे लगाए, जिसके बाद पुलिस ने जोर जबरदस्ती कर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को खदेड़ा. कुछ कार्यकर्ताओं की पुलिस ने पिटाई भी की है. पूरे गांव में अफरा तफरी का माहौल बन गया. कांग्रेस कार्यकर्ता मंत्री की कार के सामने लेट गए. जिसके बाद पुलिस ने मारकर सबको पीड़िता के घर से दूर भगा दिया.

श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि पीड़ित परिवार जो भी जांच चाहेगा, हम कराएंगे. पीड़िता ने जिन लोगों के नाम लिए हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा. यह राजनीति का विषय नहीं है. वहीं साक्षी महाराज ने कहा कि मैं अपनी पार्टी के साथ पीड़ित परिवार के समर्थन में हूं. मैं संसद में भी इसके बारे में मुखर रहा. अपराधियों को गिरफ्तार किया जाएगा. किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा. उन्नाव का नाम बदनाम हो गया है

बता दें कि उन्नाव जिले के बिहार थाना क्षेत्र के एक गांव की बलात्कार पीड़िता को गुरुवार तड़के रेलवे स्टेशन जाते वक्त रास्ते में पांच लोगों ने आग के हवाले कर दिया था. आरोपियों में से दो के खिलाफ पीड़िता ने बलात्कार का मुकदमा दर्ज कराया था. करीब 90 प्रतिशत तक झुलस चुकी युवती को एअरलिफ्ट कराकर दिल्ली के अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां शुक्रवार देर रात उसकी मौत हो गई.

 

पीड़िता की मौत की खबर मिलने पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव विधानभवन के सामने धरने पर बैठ गये और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा आनन-फानन में लखनऊ से उन्नाव रवाना हो गयीं. प्रियंका ने परिजनों से मुलाकात की.

Top Stories