गुरुग्राम के बाद अब बेगूसराय में मुस्लिम युवक से पहले उसका मजहब पूछा और मार दी गोली

गुरुग्राम के बाद अब बेगूसराय में मुस्लिम युवक से पहले उसका मजहब पूछा और मार दी गोली

बेगूसराय : दिल्ली से सटे गुरुग्राम में शनिवार को एक मुस्लिम युवक की पिटाई इसलिए कर दी गई क्योंकि उसने पारंपरिक टोपी पहनी थी और उसने धार्मिक नारे लगाने से इनकार कर दिया था. पीड़ित युवक का नाम बरकत आलम है जो मूल रूप से बिहार का रहने वाला है. आलम ने शिकायत में कहा है, “आरोपियों ने मुझे धमकी दी और कहा कि इलाके में टोपी पहनने की इजाजत नहीं है. उन्होंने टोपी उतार ली और मुझे थप्पड़ मारा. उन्होंने भारत माता की जय का नारा लगाने के लिए कहा. उनके कहने पर मैंने नारा लगाया. उसके बाद उन्होंने मुझे जय श्रीराम बोलने के लिए भी मजबूर किया, जिसे मैंने इनकार कर दिया. उसके बाद आरोपियों ने एक लाठी लेकर मेरे पैर और पीठ पर पीटा.”

यह दुसरा एक और मामला बिहार के बेगूसराय  के चेरिया-बरियारपुर के थाना क्षेत्र के कुभी गांव का है। जहां मुस्लिम युवक से पहले उसका मजहब पूछा गया। इसके बाद उसे गोली मार दी गई। पीड़ित ने बताया कि आरोपी ने सबसे पहले मेरा नाम व मजहब पूछा था। मैंने अपना नाम कासिम और मुस्लिम बताया तो राजीव गाली-गलौज करने लगा। इसके बाद उसने कहा कि तुम यहां क्या कर रहे हो? तुम्हें तो पाकिस्तान में होना चाहिए। इसके बाद उसने मुझे गोली मार दी और घायल हो गया। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है।  घटना के वक्त पीड़ित गांव में बाइक से फेरी लगा रहा था। उस दौरान राजीव यादव नाम के एक शख्स ने उसे रोक लिया। राजीव ने युवक से उसका नाम और मजहब पूछा। इसकी जानकारी देते हुए आरोपी ने उसे गोली मार दी।

 

Top Stories