Sunday , November 19 2017
Home / Bihar News / इंतिखाबी ऐलान से डेढ़ घंटा बाद मरकज़ ने बढ़ायी महंगाई अलौएंस आधा घंटा बाद रियासत ने

इंतिखाबी ऐलान से डेढ़ घंटा बाद मरकज़ ने बढ़ायी महंगाई अलौएंस आधा घंटा बाद रियासत ने

पटना : सरकारी मुलाज़िमीन व पेंशन लेने वालों के लिए महंगाई अलौएंस 6% बढ़ा कर 119% कर दिया गया है। मरकज़ी काबीना ने बुध को बिहार इंतिख़ाब प्रोग्राम की घोषणा के महज डेढ़ घंटा पहले यह फैसला लिया। मरकज़ी हुकूमत के 50 लाख मुलाज़िमीन व 56 लाख पेंशन लेने वालों को इसका फायदा होगा।

मरकज़ी काबीना की बैठक के बाद फाइनेंस वज़ीर अरुण जेटली ने कहा कि हुकूमत हर छह महीने में महंगाई अलौएंस की तजवीज करती है। इस बार महंगाई अलौएंस में मौजूदा 113 फीसद के ऊपर छह फीसद इजाफे का फैसला किया है। मुलाज़िमीन को एक जुलाई 2015 से महंगाई अलौएंस की और पेंशन लेने वालों को महंगाई राहत की एक एक्सट्रा किस्त जारी करने का फैसला किया गया।

इस इजाफे से सरकारी खजाने पर सालाना 6,655.14 करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा। यह इजाफा सभी के मंजूरी से फार्मूला के मुताबिक की गयी है। यह फार्मूला छठे मरकज़ी तंख्वाह कमीशन पर आधारित है। साबिक़ में हुकूमत ने अप्रैल में महंगाई अलौएंस को बढ़ा कर 113% किया था।

मरकज़ी हुकूमत के फैसले के फौरन बाद रियासत हुकूमत ने भी अपने मुलाज़िमीन को छह फीसद इजाफ़ी महंगाई अलौएंस (डीए) देने का फैसला किया। अब सभी मुलाज़िम को 119 फीसद डीए मिलेगा। मरकज़ी कैबिनेट के फैसले के फौरन बाद वजीरे आला नीतीश कुमार ने आनन-फानन में इससे मुतल्लिक़ फाइल मंगवायी और दोपहर दो बजे के पहले ही इस पर दस्तखत कर दिये।

इससे रियासत के करीब 2.70 लाख सरकारी मुलाज़िम और करीब 2.50 पेंशन लेने वालों को फायदा मिलेगा। यह डीए कर्मियों को उनके असल तंख्वाह पर दिया जायेगा। यह अलौएंस सितंबर के तंख्वाह में ही जोड़ कर दिया जायेगा। जबकि गुजिशता महीनों के बकाये की अदायगी अक्तूबर के तंख्वाह में जोड़ कर किया जायेगा। हालांकि, रियासती मुलाज़िमीन को उनके अलौएंस काे असल तंख्वाह में जोड़ कर डीए देने की मंसूबा अभी तक शक्ल नहीं ले सकी। इस पर फाइनेंस महकमा की तरफ से आखरी मंजूरी नहीं बनने की वजह से यह इंतिखाबी ज़ाब्ता एखलाक में उलझ गया।

 

TOPPOPULARRECENT