Wednesday , February 21 2018

इंतिख़ाब बाद मेट्रो रेल और शहर की प्लानिंग का काम

लोकसभा इंतिखाब रिजल्ट के बाद कई मंसूबे ज़मीन पर उतरने लगेंगी। इनमें मेट्रो रेल और पटना शहर मंसूबा अहम हैं। शहर तरक़्क़ी और रिहाइशगाह महकमा ने ऐसी प्रोजेक्ट का खाका तैयार कर लिया है। 16 मई के बाद रियासत कैबिनेट से मंजूरी मिलते ही दारु

लोकसभा इंतिखाब रिजल्ट के बाद कई मंसूबे ज़मीन पर उतरने लगेंगी। इनमें मेट्रो रेल और पटना शहर मंसूबा अहम हैं। शहर तरक़्क़ी और रिहाइशगाह महकमा ने ऐसी प्रोजेक्ट का खाका तैयार कर लिया है। 16 मई के बाद रियासत कैबिनेट से मंजूरी मिलते ही दारुल हुकूमत में मेट्रो मंसूबा पर काम शुरू हो जायेगा। मेट्रो रेल के लिए आवाम से भी सुझाव मांगे गये थे।

मेट्रो रेल प्रोजेक्ट के लिए हुकूमत ने 18 जून,2013 को अहद जारी किया था। प्रोजेक्ट का कॉपी तैयार करने की जिम्मेवारी राइट्स कंपनी को मिली थी। मेट्रो के डीपीआर में करीब 55 रेलवे स्टेशन का परपोजल है। हर किलोमीटर पर एक स्टेशन तैयार करने की तजवीज है। मेट्रो की लंबाई 60 किमी होगी। इसके तहत पांच कोरिडोर तैयार किये जायेंगे। सबसे बड़ा मेट्रो रेल रास्ता 16 किमी का है, जो नॉर्थ-साउथ कॉरिडोर के नाम से जाना जायेगा। इसी तरह इस्ट-वेस्ट कॉरिडोर तैयार किया जाना है।

महकमा ने 21 अक्तूबर,2013 को आम इत्तिला जारी कर 11 नवंबर,2013 तक सुझाव मांगा था। इसी तरह से पटना मेट्रोपोलिटन प्लान की तैयारी सिपेट की तरफ से की जा रही है। मेट्रो पोलिटन प्लान के लिए तशकील कमिश्नर की सदारत वाली बोर्ड ने भी इसकी मंजूरी दे दी है। अब इस मंसूबा को हतमी शक्ल दिया जा रहा है। इंतिख़ाब बाद इसमें तेजी आयेगी।

TOPPOPULARRECENT