Thursday , December 14 2017

इंतेख़ाबी इंतेशार दूर करने वज़ीर-ए‍-ख़ारिजा अमरीका अफ़्ग़ानिस्तान रवाना

वज़ीर-ए-ख़ारिजा अमरीका जान कैरी अफ़्ग़ानिस्तान का सियासी बोहरान फ़ौरी तौर पर ख़त्म करने की मुश्किलात मुहिम सरअंजाम देने का तहय्या करके अफ़्ग़ानिस्तान के दौरे पर रवाना होगए। जान कैरी ने अक़वाम-ए-मुत्तहिदा के इमदादी मिशन के सरबराह जान कोबीज़ से ज़बरदस्त क़िला बंद सिफ़ारतख़ाना वाक़्य काबुल में मुलाक़ात की।

उन्होंने कहा कि हम अफ़्ग़ानिस्तान के लिए इंतेहाई अहम लम्हा से गुज़र ररहे हैं। इंतेख़ाबात का जवाज़ हनूज़ तए नहीं हो सका है।इमकान है कि उबूरी दौर भी ग़ैर यक़ीनी सूरत-ए-हाल का शिकार होजाए इस लिए हमें बहुत काम करना है। जान कैरी उजलत में तए शूदा मुहिम पर अफ़्ग़ानिस्तान के दार-उल-हकूमत पहुंचे हैं।

बादअज़ां वो इंतेख़ाबी हरीफ़ उम्मीदवारों अब्दुल्लाह अब्दुल्लाह और अशर्फ़ ग़नी से मुलाक़ातें करेंगे जिन के दरमयान गुज़िशता माह की सदारती राय दही के सिलसिले में इख़तेलाफ़ात पैदा होगए हैं। ये राय दही मौजूदा सदर हामिद करज़ाई के जांनशीन के इंतेख़ाब के लिए मुनाक़िद की गई थी।

जोखिम और भी ज़्यादा होसकता है क्योंकि अफ़्ग़ानिस्तान के आइन्दा सदर को जंग ज़दा मुल्क बैन-उल-अक़वामी फ़ौज के तख़लिया करने के बाद सँभालना होगा क्योंकि खूँरेज़ और ठोस मुज़ाहमत करनेवाली तालिबान शोरिश पसंदी के ख़िलाफ़ जंग करने सिर्फ़ अफ़्ग़ान फ़ौज मुल्क में बाक़ी रह जाएगी।

जान कैरी ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि ऐसी राह तलाश करली जाएगी जो तमाम सवालों के जवाब तलाश करसकेगी। अवाम के शकूक-ओ-शुबहात का इतमीनान बख़श जवाब दे सकेगी और उम्मीद है कि मुल्क का मुस्तक़बिल रोशन होगा। को बीस ने अह्द किया कि अक़वाम-ए-मुत्तहिदा अफ़्ग़ानिस्तान के सियासी उबूरी दौर की क़तईयत के साथ तकमील में हती अलमकान मदद करेगा।

इबतेदाई इंतेख़ाबी नताइज से अशर्फ़ ग़नी इंतेख़ाबात की दौड़ में कामयाब होचुके हैं लेकिन अब्दुल्लाह अबदुल्लाह जो सदारती इंतेख़ाबात में नाकाम होचुके हैं ख़ुद को कामयाब क़रार दे रहे हैं इन का दावा है कि इंतेख़ाबात में धांदली हुई है।

TOPPOPULARRECENT