Sunday , June 24 2018

इंतेख़ाबी कामयाबी के लिए फ़िर्कावाराना सफ़बंदी बी जे पी का एजंडा

यू पी हुकूमत को यात्रा के सिलसिले में धमकी देने की जे डी यू की मज़म्मत

यू पी हुकूमत को यात्रा के सिलसिले में धमकी देने की जे डी यू की मज़म्मत
कांग्रेस ने बी जे पी पर इल्ज़ाम आइद किया कि वो इंतेख़ाबी कामयाबी के लिए फ़िर्कावाराना सफ़बंदी की सियासत पर अमल कर रही है। इस ने हुकूमत उत्तरप्रदेश के अयोध्या के लिए विश्वा हिंदू परिषद की यात्रा पर इमतिना आइद करने के फ़ैसले पर तनाज़ा खड़ा कर दिया है। कांग्रेस के जनरल सैक्रेटरी दिह विजय‌ सिंह ने कहा कि नरेंद्र मोदी के क़रीबी साथी अमीत शाह को बी जे पी का जनरल सैक्रेटरी इंचार्ज पार्टी उमोर बराए यू पी सदर बी जे पी राज नाथ सिंह की तरफ‌ से नामज़द किए जाने से ये बात वाज़िह होचुकी है कि इंतेख़ाबी कामयाबी के लिए फ़िर्कावाराना सफ़बंदी ही बी जे पी का एजंडा है।

उन्होंने कहा कि ये कोई नई बात या हैरतअंगेज़ बात नहीं है। बी जे पी इंतेख़ाबी कामयाबी के लिए हमेशा ही फ़िर्कावाराना जज़बात भड़काकर फ़िर्कावाराना बुनियाद पर सफ़बंदी करती आई है। ये बी जे पी की इब्तिदा-ए-ही से हिक्मत-ए-अमली है। उन्होंने समाजवादी पार्टी के सदर मुलाय‌म सिंह यादव पर इल्ज़ाम आइद किया कि वो अपनी पार्टी के साथी आज़म ख़ान के दबाओ के आगे घुटने टेक चुके हैं जिन्होंने मुजव्वज़ा 84 कोसी यात्रा पर इमतिना आइद करने की तजवीज़ पेश की थी। वी एच पी का कहना है कि वो इमतिना के बावजूद अपने प्रोग्राम पर पेशरफ़त करेगी।

वी एच पी के सदर अशोक सिंघल ने हुकूमत यू पी को भी इंतिबाह दिया है कि अगर इमतिना पर अमल किया जाये तो इस के मनफ़ी नताइज बरामद होंगे। अशोक सिंघल ने कहा था कि मुलाय‌म सिंह यादव 17 अगस्ट को उनसे मुलाक़ात के दौरान यात्रा की तजवीज़ क़बूल करचुके थे। सिंघल ने कहा कि ये एहतेजाज अयोध्या में राम मंदिर की तामीर के लिए है इसका सियासत से कोई ताल्लुक़ नहीं। मुल्क गीर सतह से साधू संतों को इस यात्रा की इत्तेला दी जा चुकी है। ये यात्रा मशरिक़ी यू पी के अज़ला से गुज़रेगी और मंदिर की ताईद हासिल करेगी।

ये यात्रा मंसूख़ नहीं की जा सकती।जे डी यू ने अशोक सिंघल की हुकूमत यू पी को धमकी को बकवास क़रार देते हुए कहा कि क्या अशोक सिंघल हिंदूओं के ठेकेदार हैं। जे डी यू के सदर शरद यादव ने कहा कि वो भी हिंदू हैं, क्या अशोक सिंघल का फ़ैसला मेरे बारे में भी है। वी एच पी आख़िर क्या है। क्या ये अक़वाम-ए-मुत्तहिदा की कोई तंज़ीम है। विश्वा हिंदू परिषद को हिंदूओं की क़ाइद कौन तस्लीम करता है। उन्हें धमकीयां देने का क्या हक़ है। उन्होंने यात्रा की तजावीज़ को मुस्तर्द करते हुए कहा कि ये यात्रा राम मंदिर की ताईद हासिल करने के लिए नहीं बल्कि बी जे पी की ताईद में वोट हासिल करने के लिए फ़िर्कावाराना सफ़ बंदी की कोशिश है।

TOPPOPULARRECENT