इंतेजार अली को रिहा करें, नहीं तो तहरीक

इंतेजार अली को रिहा करें, नहीं तो तहरीक
Click for full image

रांची : झारखंड स्टूडेंट यूनियन ने डॉ इंतेजार अली को झूठे साजिश के तहत फंसाने का इल्ज़ाम लगाते हुए हुकूमत से उनकी रिहाई की मुतालिबात की है़। इस मुद्दे पर पीर को कडरू में बैठक हुई। इसमें सदर एस अली ने कहा कि अगर हुकूमत ने ऐसा नहीं किया, तो स्टूडेंट सड़क पर उतरेंगेे़।

पुलिस-इंतेजामिया खुद तहक़ीक़ात नहीं कर मुखबीरों की बुनियाद पर फैसला ले रही है, इसीलिए आदिवासी, मुसलिम, पसमानदा और दलित तबके के बेगुनाह लोग जेलों में बंद है़ं।

उन्होंने कहा कि कई तरह से बेगुनाह साबित होने के बावजूद पुलिस इंतेजामिया डॉ इंतेजार अली को रिहा नहीं कर अपनी गलतियां छिपाने के लिए तहक़ीक़ात के नाम पर उनके अहले खाना के लोगों को इस्तेहाल कर रही है़ रिहाई की मांग को लेकर 10 अक्तूबर से दस्तखत मुहिम चलाया जायेगा़। वहीं तहरीक को तेज किया जायेगा। बैठक में रंजीत उरांव, मो इमरान, अमर उरांव, धर्मेन्द्र कुमार, मो फुरकान, लतीफ आलम, आफताब आलम, मो जियाउद्दीन, रेहान, नौशाद सहित कई स्टूडेंट मौजूद थे़।

 

Top Stories