इंतेजार मामले की तहक़ीक़ात सीआइडी को वजीरे आला ने दिया हुक्म

इंतेजार मामले की तहक़ीक़ात सीआइडी को वजीरे आला ने दिया हुक्म
Click for full image

रांची : वर्द्धमान-हटिया ट्रेन से 20 अगस्त को धमाके खेज आलात के साथ गिरफ्तार इंतेजार अली के मामले की जांच सीआइडी करेगी। वजीरे आला रघुवर दास के हुक्म के बाद पुलिस हेड क्वार्टर ने सीआइडी तहक़ीक़ात शुरू करने की हिदायत दे दिया है़। पुलिस हेड क्वार्टर के तर्जुमान एडीजी मुहिम एसएन प्रधान ने बताया : सीआइडी इस मामले की हर पहलू की तहक़ीक़ात करेगी। जो सुबूत सामने आयेंगे, उसके बुनियाद पर इंतेजार अली के बारे में फैसला लिया जायेगा। मामले की तहक़ीक़ात अभी तक जीआरपी रांची कर रही थी। तहक़ीक़ात की मॉनिटरिंग पुलिस के सीनियर अफसर कर रहे हैं।

26 दिन बाद भी पुलिस को नहीं मिले सुबूत : इंतेजार अली की गिरफ्तारी के 26 दिन के बाद भी अभी तक उसके खिलाफ पुलिस को कोई सुबूत नहीं मिला है। गिरफ्तारी के बाद इंतेजार अली ने अपने बारे में जो भी जानकारी दी थी, तहक़ीक़ात में सभी सही पाये गये हैं। उसके पास से बरामद मोबाइल की कॉल डिटेल रिपोर्ट (सीडीआर), घर से जब्त कंप्यूटर, दोस्त-रिश्तेदार वगैरह के बारे में तहक़ीक़ात करने पर भी कहीं से यह नहीं पता चला कि उसकी सरगर्मी कभी मुश्तबा रही है। सुबूत के नाम पर पुलिस के पास सिर्फ मुहिम में शामिल पुलिस मुलजिम के बयान हैं। इसमें कहा गया है कि इंतेजार अली धमाके के आलात से भरा बैग लेकर किता स्टेशन से बाहर निकल रहा था, तभी उसे गिरफ्तार किया गया। हालांकि पुलिस के ज़राये इस बयान को झूठ बता रहे हैं। ज़राये का कहना है कि बैग की बरामदगी ट्रेन में सीट के नीचे से हुई थी, लेकिन पुलिस ने इंतेजार के पास से दिखाया है।

 

Top Stories