Tuesday , December 12 2017

इंदिरानगर ताड़बन में नए वाटर पाइप लाईन कनेक्शन से पानी की सरबराही का आग़ाज़

पुराने शहर के इलाक़ा इंदिरानगर ताड़बन के अवाम, जो पिछले एक देढ़ साल से पीने के पानी के लिए इंतिहाई परेशानकुन हालात से गुज़र रहे थे, आज उस वक़्त इन में ख़ुशी की लहर दौड़ गई जब रोज़नामा सियासत में इस ताल्लुक़ से गुजिश्ता रोज़ (मौर्ख

पुराने शहर के इलाक़ा इंदिरानगर ताड़बन के अवाम, जो पिछले एक देढ़ साल से पीने के पानी के लिए इंतिहाई परेशानकुन हालात से गुज़र रहे थे, आज उस वक़्त इन में ख़ुशी की लहर दौड़ गई जब रोज़नामा सियासत में इस ताल्लुक़ से गुजिश्ता रोज़ (मौर्ख़ा 30 अगस्त को सफ़ा 2 पर) एक तफ़सीली रिपोर्ट शाए होने के साथ ही मुक़ामी क़ाइदीन ,बिलख़सूस कौंसिलर साहब फ़ौरी हरकत में आते हुए इस तकलीफदह मसले को हल करने सरगर्म हो गए और मुताल्लिक़ा महिकमा के ज़िम्मा दारों के ज़रीया नए पाइपलाइन के कनेक्शन से पानी की सरबराही का आग़ाज़ करवा दिया।

कोनसिलर साहब के जानिब से इस रिपोर्ट पर फ़ौरी कार्रवाई करने पर मुक़ामी अवाम ने जहां राहत की सांस ली है वहीं रोज़नामा सियासत की मोअस्सर रिपोर्टिंग की सताइश करते हुए इदारा सियासत से इज़हार तशक्कुर किया है ।

बताया जाता है कि आज से दो साल कब्ल ताड़बन के इलाक़ेमें वाक़ै इंदिरानगर में सरकारी नल मौजूद था जहाँ से लोग पीने का पानी हासिल कर लिया करते थे, मगर इस इलाक़े में बड़ा नाला और सीवरेज लाईन की तामीर के दौरान वाटर पाइप लाईन और मज़कूरा वाटर कनेक्शन भी मुनक़तै हो गया जिसके बाद तकरीबन 200 मकानात पर मुश्तमिल इस इलाक़े के अवाम यहां वहां और अपने रिश्ता दारों के पास से पानी हासिल करने पर मजबूर हो गए थे।

ताहम रोज़, रोज़ की परेशानी से तंग आकर मुक़ामी अफ़राद ने नए पाइपलाइन कनेक्शन के लिए मुताल्लिक़ा दफ़ातिर का चक्कर लगाना शुरू कर दिया था ,काफ़ी दौड़-धूप के बाद नए वाटर पाइपलाइन कनेक्शन काम काम शुरू हुवा तो उसकी तनसीब में भी महिनों लगा दिया गया ताहम मुक़ामी अफराद यह सोच सोच कर ख़ुश होते रहे कि पाइपलाइन की तनसीब का काम मुकम्मल होने के बाद उनकी परेशानियां खत्म हो जाएगीं और उन्हें जल्द ही पीने का पानी मयस्सर हो जाऐगा,

मगर इन का ये ख़ाब ख़ाब ही बन कर रह गया और नए पाइपलाइन की तनसीब की तकमील के बाद भी उन्हें पीने के पानी के लिए यहां वहां भटकना पड़ रहा था ,ताहम मुक़ामी अवाम की जानिब से रोज़नामा सियासत से रुजू होने पर इस हवाले से एक तफ़सीली रिपोर्ट शाए की गई जिसके बाद मुक़ामी अवामी नुमाइंदे की जानिब से फ़ौरी कार्रवाई की गई जिस से लोगों को काफ़ी राहत नसीब हुई है।

मुक़ामी अवाम ने सियासत से इज़हार तशक्कुर करते हुए इस उम्मीद का इज़हार किया है ये अख़बार आइन्दा भी इसी तरह अवामी मसाइल (समस्याओं) उठाते हुए उसे हल कराने में मुआविन साबित होता रहेगा।

TOPPOPULARRECENT