Saturday , December 16 2017

इख़्तयारात से महरूम लोक पाल के नतीजा में हक़ीक़ी मक़सद फ़ौत

नई दिल्ली २२ नवंबर (पी टी आई) हुकूमत पर मुजव्वज़ा लोक पाल की एहमीयत कम करते हुए उसे इख़्तयारात से आरी ख़ाली डिब्बे में तबदील करने का टीम अन्ना ने इल्ज़ाम आइद किया और कहा कि सिटीज़नस चार्टर और निचली सतह की ब्यूरोक्रेसी को इस्तिस्ना दिए

नई दिल्ली २२ नवंबर (पी टी आई) हुकूमत पर मुजव्वज़ा लोक पाल की एहमीयत कम करते हुए उसे इख़्तयारात से आरी ख़ाली डिब्बे में तबदील करने का टीम अन्ना ने इल्ज़ाम आइद किया और कहा कि सिटीज़नस चार्टर और निचली सतह की ब्यूरोक्रेसी को इस्तिस्ना दिए जाने पर उन्हें काफ़ी हैरत हुई जबकि ये पार्लीमैंट की क़रारदाद के ऐन बरअक्स है।

टीम अन्ना ने एक ब्यान में कहा कि हुकूमत सी बी आई, अदलिया, शहरीयों के मंशूर, ग्रुप सी और ग्रुप डी मुलाज़मीन को लोक पाल के दायरा कार से ख़ारिज करने की तजवीज़ रखती है । इस तरह ये लोक पाल सिर्फ एक ख़ाली डिब्बा के मानिंद होजाएगा जिसे कोई इख़्तयारात नहीं होंगे और ना उस की मूसिर कारकर्दगी होगी। ब्यान में कहा गया है कि अन्ना हज़ारे ने अगस्त में अपनी हड़ताल पार्लीमैंट में मनज़ोरा क़रारदाद की बुनियाद पर मुल्तवी की है।

इस क़रारदाद को बाअज़ अफ़राद के एहसासात से ताबीर किया गया था लेकिन वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह ने अना हज़ारे को तहरीर करदा मकतूब में क़रारदाद का हवाला दिया था ।

इस क़रारदाद में वाज़िह तौर पर कहा गया कि तीन मसाइल का लोक पाल बल के ज़रीया अहाता कियाजाएगा जिन में लोक आयवकत की रियास्तों में तशकील और ज़ेली ब्यूरोक्रेसी-ओ-शहरीयों के मंशूर की लोक पाल बिल में शमूलीयत भी शामिल है लेकिन हमें ये जान कर हैरत हुई कि क़रारदाद के ऐन बरअक्स हुकूमत शहरीयों के मंशूर और ज़ेली ब्यूरोक्रेसी को लोक पाल के दायरा कार से इस्तिस्ना देने की तजवीज़ रखती है।

वो एक कमज़ोर और ग़ैर मूसिर बल लाना चाहती है जिस के ज़रीया शहरीयों की शिकायात से निमटा जाएगा । ब्यान में कहा गया है कि स्टैंडिंग कमेटी के मुबाहिस के ताल्लुक़ से जो ख़बरें मिल रही है वो भी बाइस तशवीश है । टीम अन्ना ने ग्रुप सी और ग्रुप डी मुलाज़मीन को लोक पाल के दायरा कार में शामिल करने का मुतालिबा करते हुए कहा है कि ज़ेली ब्यूरोक्रेसी को इस्तिस्ना देने की शिद्दत से मुख़ालिफ़त की जाएगी।

टीम अना ने ये जानना चाहा कि क्या हुकूमत इस्तिस्ना के ज़रीया ये तास्सुर देना चाहती है कि ज़ेली ब्यूरोक्रेसी करप्शन में मुलव्वस होसकती है और किसी के एजैंसी के ज़रीया तहक़ीक़ात नहीं करवाई जाएगी ? एक आम आदमी को रोज़मर्रा की ज़िंदगी में ग्रुप सी और ग्रुप डी मुलाज़मीन से ही साबिक़ा पड़ता है ।

लाखों अवाम ने कुरप्शन के ख़िलाफ़ तहरीक में जोश-ओ-ख़ुरोश से हिस्सा लिया था और वो रोज़मर्रा की ज़िंदगी में करप्शन को ख़तन करने के ख़ाहां थी। सी बी आई को लोक पाल के कंट्रोल से बाहर रखने के मसला पर टीम अना ने कहा कि स्टैंडिंग कमेटी की इस तजवीज़ के नतीजा में लोक पाल महिज़ एक पोस्ट ऑफ़िस की हैसियत इख़तियार कर जाय गा जहां सिर्फ शिकायात मौसूल होंगी और उसे सी बी आई के हवाला किया जाएगा। सी बी आई उन रिपोर्टस को वसूल कर के अदालत में पेश करेगी ।

टीम अन्ना ने जजस के ख़िलाफ़ फ़ौजदारी तहक़ीक़ात का भी मुतालिबा किया और कहा कि उन्हें लोक पाल बिल में शामिल किया जाना चाहियॆ।

TOPPOPULARRECENT