Monday , December 11 2017

इजतिमाई इस्मत रेज़ि मुक़द्दमा का मुल्ज़िम , डकेती का मुजरिम साबित

नई दिल्ली 20 जुलाई : बच्चों से इंसाफ़ के बोर्ड ने नाबालिग़ मुल्ज़िम को हबस-ए-बेजा और 16 दिसम्बर की रात को बढ़इ को लूट लेने का मुजरिम क़रार दिया।

नई दिल्ली 20 जुलाई : बच्चों से इंसाफ़ के बोर्ड ने नाबालिग़ मुल्ज़िम को हबस-ए-बेजा और 16 दिसम्बर की रात को बढ़इ को लूट लेने का मुजरिम क़रार दिया।

उसके बाद‌ 16 दिसम्बर की रात उसने मुबय्यना तौर पर चलती बस में 23 साला लड़की की इजतिमाई इस्मत रेज़ि में मुलव्विस था। बढ़ई रामाधर को ईसी बस में सवार होने की तरग़ीब दी गई थी जिस में लड़की और उसका ब्वॉय फ्रेंड जुनूबी दिल्ली से सवार हुए थे।

इस्तिग़ासा के ज़राए के बमूजब बच्चों से इंसाफ़ बोर्ड के मुक़द्दमा की समाअत परंसपाल मजिस्ट्रेट गीतांजलि गोविल ने नाबालिग़ लड़के को दफ़ा 395 (डकैती), 342 (हबस-ए-बेजा) और 412 (बददियानती से डकैती में लूटा हुआ माल हासिल करना) क़ानून-ए-ताज़ीरात हिंद की दफ़आत के तहत आइद इल्ज़ामात से बरी करदियाथा।

TOPPOPULARRECENT