इजरायली मंत्री का बयान: ‘फलस्तीनी नेताओं का टार्गेट किलिंग होना चाहिए’

इजरायली मंत्री का बयान: ‘फलस्तीनी नेताओं का टार्गेट किलिंग होना चाहिए’

इस्राईल के आंतरिक सुरक्षा मंत्री गिलआद अरदान ने कहा है कि ग़ज़्ज़ा पट्टी के बारे में सारे विकल्प मेज़ पर हैं इनमें फ़िलिस्तीनी नेताओं की टार्गेट किलिंग और गज़्ज़ा पर क़ब्ज़ा करने का विकल्प भी शामिल है।

पार्स टुडे टुडे डॉट कॉम, अरदान ने सदीरूत के इलाक़े में अग्नि शमन केन्द्र की आधार शिला रखते हुए कहा कि हमें हमास को यह समझाना पड़ेगा कि यदि उसने हमारी संप्रभुता के लिए ख़तरा पैदा किया तो उसे भारी क़ीमत चुकानी पड़ेगी।

इससे पहले इस्राईल के पूर्व चीफ़ आफ़ आर्मी स्टाफ़ गाडी आइज़ेनकोट यह बात मान चुके हैं कि इस्राईल की शक्ति में कमी आई है क्योंकि गज़्ज़ा पट्टी में आप्रेशन के लिए भेजे गए कमांडोज़ को हम बहुत मुशकिल से बचाने मे सफल हो सके।

उल्लेखनीय है कि इस्राईल के युद्धमंत्री का पद संभालने से पहले एविग्डर लेबरमैन ने भी कहा था कि वह मंत्री बनते ही हमास के नेता इसमाईल हनीया को 24 घंटे के भीतर क़त्ल करवा देंगे मगर इस समय स्थिति यह है कि इसमाईल हनीया हमास संगठन का नेतृत्व कर रहे हैं जबकि लेबरमैन अपने मंत्री पद से हाथ धो चुके हैं।

इस स्थिति को देखते हुए टीकाकारों का मानना है कि इस्राईली अधकारी धमकियां तो देते हैं लेकिन अब एसा लगता है कि उनके पास अपनी धमकियों पर अमल करने का साहस और साधन नहीं है।

Top Stories