Friday , December 15 2017

इटानगर में 19 नवंबर तक हुक्म-ए-इमतिनाई का नफ़ाज़

इटानगर 5 नवंबर (पी टी आई) दार-उल-ख़लाफ़ा मैं शरपसंदों ने आज दो सरकारी दफ़ातिर और रियासत के महिकमा ट्रांसपोर्ट की चार बसों को नज़र-ए-आतिश कर दिया।

इटानगर 5 नवंबर (पी टी आई) दार-उल-ख़लाफ़ा मैं शरपसंदों ने आज दो सरकारी दफ़ातिर और रियासत के महिकमा ट्रांसपोर्ट की चार बसों को नज़र-ए-आतिश कर दिया।

पुलिस ज़राए ने बताया कि आतिशज़नी के वाक़िया रियास्ती ट्रांसपोर्ट की तीन बसें मुकम्मल तौर पर जल कर ख़ाकसतर होगईं जबकि एक बस को जुज़वी तौर पर नुक़्सान पहुंचा है। शरपसंदों ने सुबह की अव्वलीन साअतों में बस टर्मिनल में घुस कर बसों को नज़र-ए-आतिश करदिया था जबकि आज सुबह ही एक दीगर वाक़िया में शरपसंदों ने नहरलागोन में वाक़्य पी डब्ल्यू डी के सुपरिडॆन्ट् इन्जीनिय‌र् के दफ़्तर को भी आग लगा दी।

एक दफ़्तर मुकम्मल तौर पर ख़ाकसतर हो गया जबकि दूसरे को जज़ोरी तौर पर नुक़्सान पहुंचा है। पुलिस सुपरिडॆन्ट् अलोक कुमार ने बताया कि आतिशज़नी के संगीन वाक़िया को देखते हुए फ़ौरी तौर पर आतिश फ़िरौ अमला को तलब किया गया था जिस ने फ़ौरी तौर पर हरकत में आते हुए कुछ ही घंटों में आग को बुझा दी लेकिन सिवाए दो तीन कम्पयूटर सॆट्स् की, दीगर अशीया जल कर ख़ाकसतर हो गईं।

दरीं असना अतराफ़-ओ-अकनाफ़ मैं इमतिनाई अहकामात नाफ़िज़ किए गए हैं। कैपिटल कामपलकस मजिस्ट्रेट ओपत पुनियाइंग ने कहा कि हुक्म के मुताबिक़ किसी भी शख़्स को लाईसैंस शूदा या ग़ैर लाईसैंस शूदा मोहलिक हथियार साथ रखने की इजाज़त नहीं होगी।

इमतिनाई अहकामात का नफ़ाज़ 12 अक्तूबर से 4 नवंबर तक किया गया था लेकिन अब इस में 19 नवंबर तक तौसीअ की गई है।

उन्हों ने कहा कि हड़ताल, भूक , हड़ताल, नारे और रिया ली के इलावा एहितजाजी मुज़ाहिरों की भी इजाज़त नहीं होगी। बंद और चार या चार से ज़ाइद अफ़राद के इजतिमा पर भी इमतिना आइद होगा। यहां इस बात का तज़किरा ज़रूरी है कि शरपसंद अपने मुतालिबात को मनवाने केलिए सरकारी इमलाक को नुक़्सान पहुंचाकर ख़ुद अपने पावॊ पर कुल्हाड़ी मारते हैं।

TOPPOPULARRECENT