Monday , December 18 2017

इटालवी सफ़ीर एतेमाद खो चुके हैं। सुप्रीम कोर्ट का रिमार्क

नई दिल्ली 18मार्च ( पी टी आई ) सुप्रीम कोर्ट ने आज इटालवी सफ़ीर मतीना हिन्दुस्तान डॉ ने ले मानसीनी की सरज़निश की कियोंकी उन्होंने इस वाअदे को पूरा नहीं किया है कि इटालवी मैरीनस को इटली जाने की इजाज़त दी जाये तो वो उनकी वापसी का ज़िम्मा ले

नई दिल्ली 18मार्च ( पी टी आई ) सुप्रीम कोर्ट ने आज इटालवी सफ़ीर मतीना हिन्दुस्तान डॉ ने ले मानसीनी की सरज़निश की कियोंकी उन्होंने इस वाअदे को पूरा नहीं किया है कि इटालवी मैरीनस को इटली जाने की इजाज़त दी जाये तो वो उनकी वापसी का ज़िम्मा लेते हैं।

सुप्रीम कोर्ट ने इटालवी सफ़ीर के हिंदूस्तान छोड़ने पर पाबंदी में भी तौसीअ करदी और कहा कि उन्हें सिफ़ारती असतसनी हासिल नहीं होसकता । बेंच ने कहा कि आप एक हलफनामा दाख़िल करने के बाद इटली गए । हम ये उम्मीद नहीं करसकते थे और हम ये नहीं मान सकते थे कि इटालवी सफ़ीर इस तरह अपने वाअदे से इन्हिराफ़ करेंगे ।

सिनीय‌र वकील मुकुल रोहतगी मिस्टर मांसनी और जमहुरीया इटली के लिए अदालत में पेश हुए और कहा कि उन के मुवक्किल मांसनी को सिफ़ारती असतसनी हासिल है । इस से क़बल अदालत ने 14 मार्च को एक हुक्मनामा जारी करते हुए उनके हिंदुस्तान छोड़ने पर इमतिना आइद करदिया था ।

चीफ जस्टिस अल्तमिश कबीर की क़ियादत वाली एक बेच‌ ने इतालवी सफ़ीर को अदालत में उनकी जानिब से पेश करदा हलफनामा की याद दिलानी करवाई । इटालवी सफ़ीर को हिंदूस्तान छोड़ने से रोकने का अहकाम में 2 एप्रिल तक तौसीअ करदी गई । इस केस की आइन्दा समाअत अब 2 एप्रिल को होगी ।

TOPPOPULARRECENT