इतिहास की सबसे बड़े पैमाने पर महिलाओं के साथ किया गया बलात्कार पर एक रिपोर्ट

इतिहास की सबसे बड़े पैमाने पर महिलाओं के साथ किया गया बलात्कार पर एक रिपोर्ट
Click for full image

वर्ष 1945 के जनवरी और अगस्त के महीनों के बीच जर्मनी ने बड़े पैमाने पर बलात्कार की घटना को इतिहास में बताया, जहां सोवियत रेड आर्मी के सैनिकों द्वारा अनुमानित दो लाख जर्मन महिलाओं को बलात्कार किया था, जैसा कि वाल्टर जैपोटोकज़ी जूनियर ने अपनी पुस्तक में लिखा था ‘Beyond Duty: The Reason Some Soldiers Commit Atrocities’

अप्रैल और मई के बीच, जर्मन राजधानी बर्लिन के अस्पताल की रिपोर्ट के मुताबिक 1,00,000 से अधिक बलात्कार के मामलों को देखा जबकि पूर्व पुरूसिया, पोमेरानिया और सिलेसिया शहर ने 1.4 लाख से अधिक बलात्कार के मामलों को देखा।

अस्पताल की रिपोर्टों में यह भी कहा गया है कि सभी जर्मन अस्पतालों में प्रतिदिन गर्भपात किए जा रहे थे। उस वक्त सोवियत युद्ध संवाददाता नतालिया गेस्से ने कहा था कि सोवियत संघ ने अपने पीड़ितों की उम्र के बारे में परवाह नहीं की। उसने कहा “हर रूसी सैनिक 8 से 18 जर्मन महिला को बलात्कार कर रहे थे। यह बलात्कारियों की सेना थी।

इससे बीमारियों के फैलने के कारण 200,000 से ज्यादा लड़कियों और महिलाओं की मौत हो गई थी, विशेष रूप से कई प्रत्यक्षदर्शी लोगों ने बताया कि उस अवधि में पीड़ितों के साथ 70 बार बलात्कार किया जा रहा था।

रेड आर्मी के सैनिकों ने जर्मन महिलाओं को अपने दुश्मन के खिलाफ बदला लेने के लिए बलात्कार किया था, जर्मन सेना को लगा कि उन्हें ऐसा करने का अधिकार प्राप्त है. जैसा कि जर्मन सेना ने मातृभूमि पर हमला करके इसका ‘उल्लंघन’ किया था।

अपनी पुस्तक में, Zapotoczny ने कहा कि यहां तक ​​कि रूसी सैनिकों ने जर्मन महिलाओं से बलात्कार की बात को अस्वीकार नहीं किया, कुछ इसे मनोरंजन के रूप में ले रहे थे।

1948 में, रूस अपने शिविरों में सोवियत सैनिकों को वापस जाने का आदेश दिया गया और जर्मनी में आवासीय इलाके छोड़ दिए जाने के बाद बलात्कार के मामले बहुत कम हो गए।

Top Stories