Friday , November 24 2017
Home / Bihar News / इन्तेहाई पसमांदा को मर्क़ज़ी हुकूमत दे रिजर्वेशन : नीतीश

इन्तेहाई पसमांदा को मर्क़ज़ी हुकूमत दे रिजर्वेशन : नीतीश

पटना : कर्पूरी ठाकुर की बरसी पर वज़ीरे आला नीतीश कुमार ने बिहार के तर्ज पर मुल्क भर में इन्तेहाई पसमांदा के लिए रिजर्वेशन की मुतालिबात की है। साथ ही उन्होंने कर्पूरी ठाकुर को मरने के बाद भारतरत्न देने की भी मर्क़ज़ी हुकूमत से दरख्वास्त की है। इतवार को श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में मुनाक्किद तकरीब में वज़ीरे आला ने कहा कि खुशी की बात है कि भाजपावाले भी कर्पूरी ठाकुर की बरसी मना रहे हैं। इससे बड़ी क्या बात होगी कि जिनकी (कर्पूरी ठाकुर) सरकार भाजपा ने गिरा दी थी, उन्हीं की बरसी मन रहे हैं। यह तो हमलोगों की ख्याली जीत है।

अब जब भाजपा कर्पूरी जी की बरसी मना ही रही है, तो बिहार में इन्तेहाई पसमांदा के लिए रिजर्वेशन का जो फॉर्मूला है, उसे मुल्क भर में लागू कराये। साथ ही उन्हें मरने की बाद भारतरत्न दिया जाये। हैदराबाद यूनिवार्सिटी के तालिबे इल्म राेहित वेमुला की ख़ुदकुशी के बाद मुल्क में जो माहौल बना है, भाजपा उसी रास्ते पर है। अब कुछ वे भी कर्पूरी जी की बरसी मना रहे हैं, तो कुछ तो असर पड़ेगा। उन्होंने कहा कि बिहार एसेम्बली इन्तिखाब के वक़्त भाजपा और उनके ऊंचे ओहदे पर बैठे लीडरों ने क्या-क्या नहीं कहा? लेकिन, मेरा फितरत नहीं कि हम तनक़ीद करते। अब तो इन्तिखाब के बाद भी इन लोगों में बेचैनी है।

हाथ जोड़ लेंगे, कफन मांगने नहीं जायेंगे

सीएम ने कहा कि हम काम करनेवाले हैं और जब तक जिश्म चलेगा, काम करते रहेंगे। जिस दिन लगेगा कि हम काम नहीं कर सकते हैं, तो हाथ जोड़ लेंगे। हम कफन मांगने नहीं जायेंगे। अवाम का साथ मिला है और अवाम के लिए ही काम करते रहेंगे। हमने सीखा है कि जब सरकार में हो तो जुबान से कम बोलो, काम ऐसा करो कि वह बोले। हम ऐसा नहीं है कि कर्जा लेकर मर जाये। जो कुछ कहा है, उसे करेंगे। कहना वही चाहिए, जिसे हम कर सकते हैं। शराब बंद होने से कुछ पैसों का नुकसान होगा, लेकिन फैमिली, सेहत का जो नुकसान हो रहा था, वह बच जायेगा। अगर ऐसा नहीं होता, तो कियादत सही नहीं माना जाता और न ही तारीख कभी माफ करता।

 

 

TOPPOPULARRECENT