Tuesday , December 19 2017

इमरान शाह शिकस्त के ज़िम्मेदार नहीं : जुनैद अहमद

कराची 17 सितंबर (एजैंसीज़) पाकिस्तान हाकी टीम के मैनेजर ख़्वाजा जुनैद अहमद ने कहा है कि एशीयन हाकी चैंपीयनस ट्रॉफ़ी के फाईनल में हिंदूस्तान के ख़िलाफ़ शिकस्त के ज़िम्मेदार गोलकीपर इमरान शाह नहीं। मीडीया नुमाइंदों से गुफ़्तगु करते हु

कराची 17 सितंबर (एजैंसीज़) पाकिस्तान हाकी टीम के मैनेजर ख़्वाजा जुनैद अहमद ने कहा है कि एशीयन हाकी चैंपीयनस ट्रॉफ़ी के फाईनल में हिंदूस्तान के ख़िलाफ़ शिकस्त के ज़िम्मेदार गोलकीपर इमरान शाह नहीं। मीडीया नुमाइंदों से गुफ़्तगु करते हुए उन्हों ने कहाकि टूर्नामैंट में इमरान शाह ने बेहतरीन गोल कीपिंग का मुज़ाहरा किया दरहक़ीक़त तजुर्बे की कमी और बदकिस्मती हमारी शिकस्त का असल सबब है। फाईनल वाले दिन क़िस्मत ने आख़िरी मरहले में हमारा साथ नहीं दिया। उन्हों ने कहा कि सीनीयर खिलाड़ी हमेशा टीम का हिस्सा नहीं होंगे हमें इन का मुतबादिल तलाश करना है और उन्हें मुस्तक़बिल केलिए तैय्यार भी करना है। मुझे अपनी नौजवान खिलाड़ियों पर मुकम्मल एतिमाद है वो सीनीयर खिलाड़ियों के जांनशीन होंगी। ख़्वाजा जुनैद ने कहा कि फाईनल में क़ौमी टीम को 9 पेनाल्टी कॉर्नर मिले जिस पर हम गोल करने में कामयाब ना हो सके ये हमारा टर्निंग प्वाईंट था अगर हम एक पेनाल्टी कॉर्नर को गोल में तबदील कर देते तो नतीजा हमारे हक़ में होता। इस सवाल के जवाब में कि सुहेल अब्बास की कमी महसूस हुई? ख़्वाजा जुनैद ने कहा कि जब नए खिलाड़ियों को आज़माया जाएगा तो किसी ना किसी सीनीयर की कमी तो महसूस होती है लेकिन सारी ज़िंदगी नए खिलाड़ियों केलिए दरवाज़े बंद नहीं किए जा सकते हैं और ना ही हमेशा सीनीयरस पर भरोसा कर के टीम को ख़तन कर सकते हैं। तबदीली का अमल जारी रहता है। उन्हों ने एतराफ़ किया कि फाईनल में दो और टूर्नामैंट के दौरान जूनीयर खिलाड़ियों ने तजुर्बे की कमी के बाइस आठ से दस गोल के मवाक़े ज़ाए कई।

TOPPOPULARRECENT