Sunday , December 17 2017

इमरान ख़ान और ताहिरुल क़ादरी से बातचीत के लिए कमेटी की तशकील

हुकूमते पाकिस्तान ने कहा कि वो पाकिस्तान तहरीके इंसाफ़ और पाकिस्तान अवामी तहरीक के दस्तूरी मुतालिबात पर तबादले ख़्याल के लिए तैयार है और इस सिलसिले में दो कमेटियां तशकील दी गई हैं जो तमाम बड़ी सियासी पार्टीयों के अरकान पर मुश्तम

हुकूमते पाकिस्तान ने कहा कि वो पाकिस्तान तहरीके इंसाफ़ और पाकिस्तान अवामी तहरीक के दस्तूरी मुतालिबात पर तबादले ख़्याल के लिए तैयार है और इस सिलसिले में दो कमेटियां तशकील दी गई हैं जो तमाम बड़ी सियासी पार्टीयों के अरकान पर मुश्तमिल हैं।

बातचीत का फ़ैसला तहरीके इंसाफ़ के सदर नशीन इमरान ख़ान और अवामी तहरीक के सदर ताहिरुल क़ादरी की जानिब से वज़ीरे आज़म नवाज़ शरीफ़ को बरतरफ़ करने के लिए सिविल नाफ़रमानी तहरीक का आग़ाज़ करने के एक दिन बाद मंज़रे आम पर आया है।

वफ़ाक़ी हुकूमत हर दस्तूरी मुतालिबा को सुनने के लिए तैयार है। वज़ीरे दाख़िला चौधरी निसार ने प्रैस कान्फ़्रैंस से ख़िताब करते हुए कहा कि हुकूमत दोनों क़ाइदीन से सौदेबाज़ी के लिए तैयार है।

उन्हों ने कहा कि किसी को भी सख़्त हिफ़ाज़ती इंतेज़ामात के तहत क़ायम रेड ज़ोन की ख़िलाफ़वर्ज़ी की इजाज़त नहीं दी जाएगी जहां पार्लीयामेंट, सदरे पाकिस्तान, वज़ीरे आज़म पाकिस्तान की रिहायश गाहें और सिफ़ारत ख़ाने क़ायम हैं।

वज़ीरे दाख़िला ने कहा कि हुकूमत ने इंतिहाई सब्रो तहम्मुल अख़्तियार किया जबकि इन क़ाइदीन ने तवील जुलूस निकाला। उन्हें धरने देने की इजाज़त दी गई। अपोज़ीशन पाकिस्तान पीपुल्ज़ पार्टी के सीनियर क़ाइद एतेज़ाज़ अहसन ने कहा कि हुकूमत मसअले का सियासी हल तलाश करने से क़ासिर है।

TOPPOPULARRECENT