Monday , December 11 2017

इमारत अहले अनसार की मीटिंग में कई फैसले

इमारत अहले अनसार के मर्कजी तर्जुमान मोहम्मद अतीकुल हक़ अंसाफ़ी की इत्तिला के मुताबिक एक अहम नशस्त आलम गंज हासिबूल हक़ के मकान पर हुयी। इसकी सदारत मोहम्मद शहीद अंसारी ने की। 2014 के कलेंडर के उजरा के बारे में तबाद्ला ख्याल हुआ। हाजरीन

इमारत अहले अनसार के मर्कजी तर्जुमान मोहम्मद अतीकुल हक़ अंसाफ़ी की इत्तिला के मुताबिक एक अहम नशस्त आलम गंज हासिबूल हक़ के मकान पर हुयी। इसकी सदारत मोहम्मद शहीद अंसारी ने की। 2014 के कलेंडर के उजरा के बारे में तबाद्ला ख्याल हुआ। हाजरीन मजलिस की राए हुयी के 2014 के कलेंडर में मोमिन तहरीक के रहनुमा के साथ इमारत अहले अनसार के जिलाई अमीर व कोंवेनर का नाम भी दिया जाए। इमारत अहले अनसार की सरगर्म तहरीक जो फिलवक्त बंद है उसको फिर से चालू करके जिला अमीर का भी इंतिख़ाब कराया जाये।

बुनकर, बेडी मजदूर और रजेंदर नगर, हैंडलूम भवन की बदहाली पर तबादिला ख्याल किया गया। बुनकर व बेड़ मजदूरों को मर्कज़ी ईमदाद से मकान बनाने के लिए जो रुपए मिलना चाहिए वो उनको सही तरीके से नहीं मिल पा रहा है। इसके लिए इमारत के अरकान ने जोरदार तरीके से तहरीक चलाने की ज़रूरत पर ज़ोर दिया ताकि इमदाद सही ढंग से मिल सके। इस मौके पर हासिबूल हक़, डॉक्टर मोहम्मद शराफ हुसैन, डॉक्टर ख्लीकुर्रहमान, महफूज आलम, शाहीद हुसैन, मोहम्मद फाजिल अंसारी, खुर्शीद आलम एडवोकेट, अलीम अंसारी, मुंसिफ आली, महमूद आलम वगैरह मौजूद थे।

TOPPOPULARRECENT