Monday , December 11 2017

इमारात हज हाउज़ में साफ़ सफ़ाई के नाक़िस इंतेज़ामात

हज हाउज़ वाक़्ये नामपली में सेहत-ओ-सफ़ाई के इंतेज़ामात और मेंटनेंस में कोताहियों का उस वक़्त इन्किशाफ़ हुआ जब हज की क़ुरआ अंदाज़ी के सिलसिले में सैंकड़ों की तादाद में अफ़राद हज हाउज़ पहुंचे।

हज हाउज़ वाक़्ये नामपली में सेहत-ओ-सफ़ाई के इंतेज़ामात और मेंटनेंस में कोताहियों का उस वक़्त इन्किशाफ़ हुआ जब हज की क़ुरआ अंदाज़ी के सिलसिले में सैंकड़ों की तादाद में अफ़राद हज हाउज़ पहुंचे।

हज हाउज़ की इमारत के सेलर में क़ुरआ अंदाज़ी की तक़रीब मुनाक़िद की गई थी लेकिन वहां सफ़ाई के नाक़िस इंतेज़ामात के सबब बदबू फैल चुकी थी जिस के सबब आज़मीने हज्ज बैठने में दुशवारी होरही थी। हज हाउज़ के मेंटनेंस की ज़िम्मेदारी वक़्फ़ बोर्ड की और इस के लिए हर साल हुकूमत बाक़ायदा बजट मंज़ूर करती है लेकिन हज हाउज़ के मेंटनेंस से मुताल्लिक़ ओहदेदार और मुलाज़िमीन हमेशा ही ग़फ़लत-ओ-लापरवाही का शिकार देखे गए। साबिक़ में भी एक मर्तबा चीफ़ मिनिस्टर की आमद से एन क़बल हज हाउज़ की ड्रेन लाईन फट पड़ी थी। डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर तेलंगाना मुहम्मद महमूद अली की आमद से एन क़बल मेंटनेंस अमले ने स्टेज के अफ़राद फ्रेश्नर स्प्रे का इस्तेमाल करते हुए बदबू और ताफ़्फ़ुन पर क़ाबू पाने की कोशिश की।

बताया जाता हैके क़ुरआ अंदाज़ी की तक़रीब सेलर में मुनाक़िद करने के लम्हा आख़िर में किए गए फ़ैसले के सबब सेलर में सफ़ाई के इंतेज़ामात नहीं किए जा सके। सेलर में हमेशा गंदगी और ड्रेन लाईन का पानी बहता दिखाई देता है। सफ़ाई के नाक़िस इंतेज़ामात के सबब आज़मीने हज्ज को दुशवारी पेश आई। हुक्काम ने अहम शख़्सियतों की फ़िक्र करते हुए स्टेज के अतराफ़ स्प्रे का इस्तेमाल किया जबकि आज़मीन की नशिस्तों के पास बदबू आरही थी। इसी तरह हज हाउज़ के एक हिस्से में मौजूद दो में से एक लिफ़्ट पिछ्ले 15 दिन से बंद पड़ी है और कोई पुर्साने हाल नहीं। इस लिफ़्ट के बंद होने से अवाम छटवें मंज़िल तक सीढ़ीयों के ज़रीये जाने पर मजबूर हैं। ज़ईफ़ अफ़राद और ख़वातीन को काफ़ी मुश्किलात का सामना है।

इस सिलसिले में मेंटनेंस के अमला को बारहा तवज्जा दिलाई गई लेकिन लिफ़्ट को दरुस्त करने पर किसी ने तवज्जा नहीं दी। इस हिस्सा में मौजूद दूसरी लिफ़्ट सिर्फ़ चौथी और पांचवें मंज़िल पर जाती हैं और आम तौर पर ओहदेदार ही इस का इस्तेमाल करते हैं। डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर अवामी नुमाइंदों और अक़लियती बहबूद के आला ओहदेदारों की आमद के बावजूद हज हाउज़ में सेहत सफ़ाई के नाक़िस इंतेज़ामात वक़्फ़ बोर्ड की कारकर्दगी को बेनकाब करते हैं।

तेलंगाना के अलावा आंध्र प्रदेश के वज़ीर और आला ओहदेदारों ने भी हज हाउज़ का दौरा किया लेकिन सूरत-ए-हाल में कोई तबदीली नहीं आई। इस से अंदाज़ा होता हैके हज हाउज़ के मेंटनेंस पर किस हद तक तवज्जा दी जा रही है। सेलर में मौजूद टायलट्स की सफ़ाई का कोई नज़म नहीं। इस के अलावा हज हाउज़ के खुले मैदान में मौजूद टॉयलेट्स का ग़ैर मुताल्लिक़ा अफ़राद इस्तेमाल करते हुए गंदगी फैला रहे हैं। आम तौर पर हज कैंप के वक़्त उन का इस्तेमाल होता है लेकिन बाद में उन्हें बंद करने की किसी को फ़िक्र नहीं होती जिस के सबब गंदी और कचरे के अंबार दिखाई देते हैं।

TOPPOPULARRECENT