Thursday , April 26 2018

इराक: ISIS ने 19 यज़ीदी लड़कियों को जला डाला

बगदाद: इराक में कई वेबसाइटों ने यह खबर दी है कि आइएस संगठन ने उत्तरी शहर मोसुल में 19 यज़ीदी  लड़कियों को जला डाला। जानकारी के अनुसार आतंकवादी संगठन ने लोहे के पिंजरों में उक्त लड़कियों को डाल उनमें आग लगा दी। यह वह तरीका है जिसके द्वारा फरवरी 2015 में आईएस ने जॉर्डन के एक पायलट मआज़ अलकसासबह को जला कर मार डाला था और कार्रवाई की वीडियो भी जारी किया था।

कुर्दिस्तान नेशनल यूनियन ब्यूरो की ओर से जारी बयान में एक चश्मदीद के हवाले से बताया गया है कि “इन सभी लड़कियों को इसलिये मौत के घाट उतारा गया कि उन्होंने चरमपंथियों की सेवा के लिए बांदियां बनने से इनकार कर दिया था” ।

इस दौरान ARA News वेबसाइट का कहना है कि मोसुल शहर में आइएस संगठन के 6 सदस्यों ने 19 यज़ीदी  महिलाओं और लड़कियों को धातु के बने हुए डरमों में डालकर उन पर पेट्रोल छिड़क दिया और फिर उन्हें आग लगा दी यहाँ तक कि वे मौत के नींद सो गईं। इससे पहले संगठन ने इन सभी महिलाओं को पिंजरों में डाल उन्हें शहर की सड़कों पर गश्त कराया था।

याद रहे कि आइएस संगठन ने मोसुल के पश्चिम में 124 किलोमीटर दूर स्थित संजार जिले में 3 अगस्त 2014 को जब्त कर लिया था जहां की आबादी का अक्सर हिस्सा यज़ीदयों का होता है। इस व्यवसाय के परिणामस्वरूप हजारों लोगों ने बेहद मुश्किल मानव स्थिति में पास में स्थित जबल संजार द्वारा पलायन कर ली। समाचार रिपोर्टों के अनुसार आईएस के सदस्यों ने यज़ीदयों के खिलाफ बुरी अपराध का इलज़ाम लगाया  जिनमें हत्या, अपहरण और दास बांदी बनाना सर्वोपरि हैं।

TOPPOPULARRECENT