Wednesday , December 13 2017

इरान और शुमाली कोरिया के मसला पर हिंद । रूस । चीन का ग़ौर

हिंदूस्तान , रूस और चीन के वुज़राए ख़ारिजा ने आज मुख़्तलिफ़ इलाक़ाई-ओ-बैन अल-अक़वामी मसाइल पर तबादला ख़्याल किया जिन में इरान , शुमाली कोरिया का सेटेलाईट प्रोग्राम और दहश्तगर्दी भी शामिल है। तीन ममालिक की तंज़ीम आर आई सी के वज़ारती इजल

हिंदूस्तान , रूस और चीन के वुज़राए ख़ारिजा ने आज मुख़्तलिफ़ इलाक़ाई-ओ-बैन अल-अक़वामी मसाइल पर तबादला ख़्याल किया जिन में इरान , शुमाली कोरिया का सेटेलाईट प्रोग्राम और दहश्तगर्दी भी शामिल है। तीन ममालिक की तंज़ीम आर आई सी के वज़ारती इजलास में इस एम कृष्णा ने हिंदूस्तान की नुमाइंदगी की । इनके रूसी हम मंसब सर्गई लारोफ़ और चीनी वज़ीर ख़ारिजा यांग जी ची भी इस इजलास में मौजूद थे ।

तीनों वुज़राए ख़ारिजा ने दहश्तगर्दी की तमाम इक़्साम की सख़्त अल्फ़ाज़ में मुज़म्मत की । ज़राए इबलाग़ के मुताबिक़ इस इजलास में इस अह्द का इआदा किया कि दहश्तगर्दी की लानत से निमटने के लिए सख़्त इक़्दामात किए जाएं और दहश्तगर्द हमलों के साज़िशियों के ख़िलाफ़ ही नहीं उन के हामियों और सरपरस्तों के ख़िलाफ़ भी कार्रवाई की जानी चाहीए , ये रिमार्कस दहश्तगर्द तनज़ीमों के ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई करने के लिए पाकिस्तान पर बढ़ते हुए बैन अल-अक़वामी दबाव के तनाज़ुर में किए गए हैं। नई दिल्ली ने वाज़िह किया कि हिंदूस्तान पाकिस्तान के साथ अपने ताल्लुक़ात का दहश्तगर्दी के ख़िलाफ़ किए जाने वाले इक़्दामात की बुनियाद पर तीन करेगा ।

चीन ने भी उसे ही ख़्यालात का इज़हार किया और मशरिक़ी तुर्किस्तान की इस्लामी तहरीक के ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई करने का मुतालिबा किया। चीन का इल्ज़ाम है कि इस तंज़ीम से वाबस्ता दहश्तगर्द पाकिस्तानी सरज़मीन पर तरबियत हासिल कर रहे हैं । सरकारी ज़राए ने कहा कि तीनों वुज़राए ख़ारिजा ने दहश्तगर्दी की तमाम इक़्साम की सख़्त मुज़म्मत की और कहा कि ये लानत किसी एक मुल्क तक महेदूद नहीं है ।

TOPPOPULARRECENT