Sunday , January 21 2018

इराक़ में सऊदी सिफ़ारतख़ाना दोबारा खुल गया

सऊदी अरब ने 25 साल बाद इराक़ी दारुल हुकूमत में अपना सिफ़ारतख़ाना दोबारा खोल दिया है। इराक़ी वज़ीरे ख़ारजा इब्राहीम अल जाफ़री ने सऊदी सफ़ीर तिमिर अल सबहान से उनकी सिफ़ारती अस्नाद वसूल कीं।

इराक़ी हुक्काम का कहना है कि मंगल को सिफ़ारतकारों ने दोनों अक़्वाम के दरमयान ताल्लुक़ात को वुसअत देने के मुआमले पर तबादले ख़्याल किया।

सऊदी अरब ने 1990 में कुवैत पर सद्दाम हुसैन की आमिराना हुकूमत के हमले के बाद, इराक़ से सिफ़ारती ताल्लुक़ात मुनक़ते कर दिए थे और बग़दाद में क़ायम अपना सिफ़ारतख़ाना बंद कर दिया था।

सऊदी अरब के सिफ़ारतख़ाने का दोबारा खुलना इस बात की निशानदेही करता है कि इराक़ और ख़लीज की दीगर अक़्वाम के दरमयान ताल्लुक़ात पर जमी बर्फ़ पिघलने लगी है, हालाँकि कुछ लोग समझते हैं कि इराक़ की नई शीया क़ियादत की सऊदी अरब के सबसे अहम इलाक़ाई हरीफ़ शीया ईरान के साथ ज़्यादा क़रीबी ताल्लुक़ात हैं।

TOPPOPULARRECENT