Tuesday , December 12 2017

इराक़ में सिलसिलेवार बम धमाके और ख़ुदकश हमले 65 हलाक

इराक़ के दार-उल-हकूमत और अतराफ़-ओ-अकनाफ़ शिया आबादी वाले इलाक़े आज सिलसिले वार बम धमाकों से दहल गए, जिसमें तक़रीबन 65 अफ़राद हलाक और दीगर कई ज़ख़्मी हो गये।

इराक़ के दार-उल-हकूमत और अतराफ़-ओ-अकनाफ़ शिया आबादी वाले इलाक़े आज सिलसिले वार बम धमाकों से दहल गए, जिसमें तक़रीबन 65 अफ़राद हलाक और दीगर कई ज़ख़्मी हो गये।

इन धमाकों में जो यके बाद दीगरे हुए, ऐसे अफ़राद को निशाना बनाया गया जो ख़रीदारी में मसरूफ़ थे या अपने कामों पर जा रहे थे। बम हमलों में हलाकतों के इलावा एक ही शिया ख़ानदान के 7 अफ़राद को बंदूक़ बर्दारों ने उनके घर पर हमला करते हुए गोली मार दी। ये कार्रवाई ऐसे वक़्त की जबकि तमाम अरकाने ख़ानदान महवे ख़ाब थे।

ओहदेदारों के मुताबिक़ दहशतगर्दों ने धमाको मादों से लदी कारों, ख़ुदकुश बमबार और दीगर बमों के ज़रिये पार्किंग के मुक़ामात, मार्किट और रेस्टोरेंट को निशाना बनाया। बग़दाद के अतराफ़-ओ-अकनाफ़ शिया आबादी वाले इलाक़े ख़ास निशाना थे। इसके इलावा दार-उल-हकूमत के जुनूब में एक फ़ौजी क़ाफ़िले पर भी हमला किया गया।

शुमाली पड़ोसी शहर काज़मेह इस कार्रवाई में सब से ज़्यादा मुतास्सिर रहा। दो बम धमाके पार्किंग के मुक़ामात पर किए गए, जिसके बाद ख़ुदकश कार बमबार ने उस वक़्त ख़ुद को धमाके से उड़ा लिया जब लोग यहां धमाके के मुक़ाम पर जमा थे। आज के हमलों की ज़िम्मेदारी फ़ौरी तौर पर किसी ने क़बूल नहीं की लेकिन आम तौर पर इराक़ में सरगर्म अलक़ायदा इस तरह की कार्रवाइयों में मुलव्वस हुआ करती है। ये ग्रुप आम तौर पर शिया मुस्लमानों को निशाना बनाया करता है और इस वक़्त सारे मुल्क को मसलकी तशद्दुद का शिकार बनादिया गया है।

शिया ख़ानदान को सुन्नी आबादी वाले इलाक़े लतीफ़ेह टाउन में उनके घर पर निशाना बनाया गया जो बग़दाद से 30 किलो मीटर जुनूब की सिम्त में है। 3 बच्चे जिनकी उम्र 8 ता 12 साल है, उनके वालिदैन और दो चचा इस हमले में हलाक होगए।

सिलसिले वार धमाकों में सुबह के वक़्त ख़रीद-ओ-फ़रोख़त में मसरूफ़ रहने वाले अफ़राद निशाना बने। ये धमाका शुमाली शहाब इलाक़ा में तिजारती मर्कज़ पर हुआ जहां धमाकों से लदी कार पार्क की गई थी, इस में 9 अफ़राद हलाक और 15 ज़ख़्मी होगए।

TOPPOPULARRECENT