इराक़ में सैंकड़ों हलाकतों का अक़्वामे मुत्तहदा का दावा

इराक़ में सैंकड़ों हलाकतों का अक़्वामे मुत्तहदा का दावा
अक़वाम-ए-मुत्तहिदा के इंसानी हुक़ूक़ के इदारे के मुताबिक़ सुन्नी इंतहापसंदों की तरफ़ से इराक़ी शहर मूसिल पर क़बज़े के दौरान जो हलाकतें हुईं उन की तादाद सैंकड़ों में हो सकती है।

अक़वाम-ए-मुत्तहिदा के इंसानी हुक़ूक़ के इदारे के मुताबिक़ सुन्नी इंतहापसंदों की तरफ़ से इराक़ी शहर मूसिल पर क़बज़े के दौरान जो हलाकतें हुईं उन की तादाद सैंकड़ों में हो सकती है।

इस इदारे के तर्जुमान रूपर्ट कोल विलय का कहना है कि उन के दफ़्तर को मौसूल होने वाली इत्तिलाआत के मुताबिक़ इस दौरान 17 ऐसे सिवीलियन अफ़राद को भी क़त्ल किया गया है जो मूसिल की पुलिस और अदालत के अहलकार थे।

इन रिपोर्टों के मुताबिक़ चार ऐसी ख़वातीन ने ख़ुदकुशी कर ली जिन्हें जिन्सी ज़्यादती का निशाना बनाया गया। कोल विलय का मज़ीद कहना था कि उन के पास ऐसी ख़बरें भी हैं कि हुकूमती फ़ोर्सिज़ ने छः और आठ जून को सिवीलियन इलाक़ों में शैलिंग की, जिन में 30 के क़रीब आम शहरी हलाक हुए।

जिहादीयों की शुमाली इराक़ में बरक़रफ़तार पेशरफ़त से तेल की मंडीयों में फ़िक्रमंदी पैदा हुई है। आई ई ए ने आज ख़बरदार किया कि इराक़ से तेल दरआमद करने वाले ममालिक को फ़िक्रमंदी की कोई ज़रूरत नहीं क्योंकि इराक़ से तेल की सरबराही को फ़ौरी तौर पर कोई ख़तरा नहीं है।

Top Stories